आज की रात कर लें यह उपाय, भगवान विष्णु की कृपा से होगी धनप्राप्ति

0
lakshmiji and vishnu ji

हिन्दू धर्म में एकादशी तिथि को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है, लेकिन कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष में आने वाली एकादशी को सबसे अधिक शुभ और मंगलाकारी माना जाता है। इस एकादशी को देवउठनी एकादशी या देवप्रबोधिनी एकादशी भी कहा जाता है। इस साल यह एकादशी 8 नवंबर शुक्रवार को मनाई जाएगी।

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार देवोत्थान एकादशी के दिन भगवान विष्णु नींद से जागते हैं जिसकी खुशी और स्वागत में सभी देवी-देवता दीप उत्सव मनाते हैं। ऐसे में इस दिन भगवान की विशेष कृपा पाने के लिए अपने घर पर दीपक जरूर जलाएं। माना जाता है कि इस दिन कई ऐसे काम है जिन्हें नहीं करना चाहिए।

1- माना जाता है कि इस एकादशी पर तुलसी का विवाह शालीग्राम से हुआ था। इसलिए इस दिन भी दिवाली के तरह ही घरों में दिए जलाए जाते है। इसलिए कोशिश करें कि इस रात घर का कोई कोना अंधेरा ना हो।

2- पुराणों में बताया गया है कि इस दिन जो व्यक्ति व्रत ना रखें, उन्हें भी प्याज, लहसुन, मांस, अंडा जैसे तामसिक पदार्थ का सेवन नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से नरक में स्थान मिलता है।

3- शास्त्रों में एकादशी के दिन चावल या चावल से बनी चीजों को खाने मनाही है। धार्मिक मान्यता है कि इस दिन चावल खाने से व्यक्ति को रेंगनेवाले जीव की योनि में जन्म मिलता है।

4- एकादशी के दौरान ब्रह्मचार्य का पालन करना चाहिए। इस दिन शारीरिक संबंध से परहेज रखना चाहिए।

5- एकादशी के दिन गुस्सा नहीं करना चाहिए। मान्यता है कि इस दिन घर में शांति और सद्भाव बनाए रखने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं। इसलिए भूलकर भी घर के शुद्ध वातावरण को खराब न होने दें और कलह से बचें।

6- एकादशी का दिन बहुत पवित्र होता है, इसे आप सोने में व्यर्थ ना करें। इस दिन सुबह उठाकर भगवान का नाम लें और उनके मंत्रों का जप करें।