दिल्ली से महाराष्ट्र की ओर जाने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट बीच रास्ते से वापस लौंट आई हैं। यह फ्लाइट नासिक जा रही थी। इसके के बारे में जब जानकारी ली गई तो स्पाइसजेट के संबंधित अधिकारी ने बताया कि, जेट में कुछ खराबी के कारण फ्लाइट को बीच रास्ते से वापस बुलाना पड़ा। हांलाकि, फ्लाइट की दिल्ली में सुरक्षीत लैंडिंग हुई।

डीजीसीए के अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को बताया कि, स्पाइसजेट बी737 एयरक्राफ्ट वीटी-एसएलपी, दिल्ली से नासिक (फ्लाइट एसजी-8363) गुरुवार को ऑटोपायलट स्नैग की वजह से बीच रास्ते से ही वापस लौटी है। इसने दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान भरी थी।

कारण बताओं नोटिस

गिरते रुपये और ईंधन की बढ़ती कीमतों के बीच आर्थिक संकट से जूझ रही यह एयरक्राफ्ट कंपनी पिछले कुछ समय से कई अन्य इसी तरह की घटनाओं में शामिल रही है। इसके चलते डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने एयरलाइन को कारण-बताओ नोटिस भी जारी किया है। पिछले महीने, 27 जुलाई को एविएशन सेफ्टी रेगुलेटर ने एयरलाइन को अपनी अधिकतम 50 फीसदी फ्लाइट्स को 8 हफ्तों तक उड़ने का आदेश दिया था।

Also Read : साउथ के सुपरस्टार अल्लू अर्जुन करने जा रहे है हॉलीवुड में डेब्यू, मार्वल या डीसी मूवी से कर सकते हैं एंट्री

गौरतलब है कि, स्पाइजेट के चीफ फाइनेंशियल ऑफिसर (CFO) संजीव तनेजा ने कल तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे दिया था। एयरलाइन ने बुधवार 31 अगस्त को शेयर बाजारों को भेजी एक सूचना में यह जानकारी दी। एयरलाइन ने स्टॉक एक्सचेंजों को यह भी बताया कि उसने अगला CFO नियुक्त करने के लिए कैंडिडेट की पहचान कर ली है। CFO पद पर सितंबर 2022 में नियुक्ति हो जाएगी।

इतना हुआ घाटा

बता दें, तनेजा का यह इस्तीफा ऐसा समय में आया है, जब कंपनी का तिमाही घाटा बढ़ गया है और उसके कई उड़ानों में बीच हवा में तकनीकी खामी का मामला सामने आया है। स्पाइसजेट ने बताया कि जून तिमाही में उसका शुद्ध घाटा बढ़कर 789 करोड़ रुपये रहा, जो इसके पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 729 करोड़ रुपये था। कंपनी ने बताया कि जून तिमाही में जेट फ्यूल की अधिक कीमत और रुपये की वैल्यू में गिरावट के चलते उसका घाटा बढ़ा है।