जिला इंदौर में वन्य जीवों व प्राणियों की तस्करी को रोकने हेतु इन गतिविधियों मे लिप्त आरोपियो की पतारसी कर प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश पुलिस आयुक्त इंदौर शहर हरिनारायणचारी मिश्र एवं अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राजेश हिंगणकर के द्वारा दिए गए हैं, उक्त निर्देशों के तारतम्य में पुलिस उपायुक्त (प्रभारी अपराध शाखा एवं यातायात प्रबंधन) महेशचंद जैन के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त ( अपराध शाखा) गुरू प्रसाद पाराशर के निर्देशानुसार थाना प्रभारी अपराध शाखा के द्वारा कार्यवाही करने हेतु अपराध शाखा टीम को लगाया था ।

इसी कड़ी में क्राइम ब्रांच टीम को मुखबिर से सूचना मिली थी कि शहर में वन्य प्राणियों की तस्करी करने वाले तस्कर कछुओ को लेकर विजयनगर क्षेत्र में घूम रहे हैं। उक्त सूचना की तस्दीक करते क्राइम ब्रांच टीम व वन विभाग की संयुक्त कार्यवाही में आरोपियो को घेराबंदी कर पकड़ा व नाम पता पूछने पर अपना नाम 1.धनंजय पिता अमोल नगरकर उम्र 22 साल निवासी अरण्य नगर स्कीम 78 थाना लसूडिया 2. वरुण पिता ओमप्रकाश नैयर उम्र 35 साल निवासी महालक्ष्मी नगर थाना लसूडिया इंदौर बताया। आरोपियो की तलाशी लेने पर उनके पास से 14 कछुए मिले जिनकी अंतराष्ट्रीय बाजार में लाखों रुपए कीमत है।

Also Read : श्रद्धा मर्डर केस में Mumbai Police ने की ये दो अहम गलतियां, नही तो आरोपी आफताब होता सलाखों के पीछे

पूछताछ में आरोपियो ने बताया कि कई लोग तांत्रिक क्रिया करने के लिए उल्लू व कछुए मुंह मांगी कीमत पर खरीदते है इसलिए अवैध लाभ अर्जित करने की नियत से ऊंचे दामों पर वन्य जीवों की तस्करी करना स्वीकार किया। वन्य जीव सहित उक्त दोनों आरोपियो को अग्रिम वैधानिक कार्यवाही हेतु वन्य विभाग को सुपुर्द किया गया।