न्यू दिल्ली। दुनिया के सामने एक बार फिर कोरोना का संकट खड़ा हो गया है। चीन में संक्रमण तेज रफ्तार से बढ़ रहा है। जापान में रिकॉर्ड मौतें हो रहीं हैं। इस बीच भारत में भी एक्सपर्ट ने चेतावनी दी है कि अगले 40 दिन बहुत मुश्किल होने वाले हैं, क्योंकि जनवरी में मामले बढ़ सकते हैं। कोरोना वायरस का डर एक बार फिर लोगों में बढ़ रहा है। चीन में तेजी से बढ़ते मामलों ने भारत के लोगों के माथे पर भी चिंता की लकीरें खींच दी हैं।

कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रोन BF.7 भारत समेत दुनिया कई देशों में पहुंच चुका है। नए वेरिएंट ओमिक्रोन BF.7 के अब तक देश में चार ही मामले सामने आए हैं। लेकिन ओमिक्रॉन XBB वेरिएंट भारत में सबसे ज्यादा मुश्किल खड़ी कर रहा है। देश में सबसे ज्यादा लोग इसी वेरिएंट की चपेट में आ रहे हैं। BA.2.10.1 और BA.2.75 से मिलकर बना XBB भारत समेत दुनिया के 34 देशों में मौजूद है।

Also Read – Jannat Zubair का दिखा कातिलाना अंदाज, बोल्डनेस ने किया मदहोश

कोरोना वायरस (Coronavirus) के नए वैरिएंट ने कई देशों में कोहराम मचा रखा है। अब इस वायरस की एंट्री भारत में भी हो गई है। कई राज्यों में इस नए वैरिएंट के मामले सामने आ रहे हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में यह वायरस चार महीने पहले ही आ गया था, लेकिन इसके मामले नहीं बढ़े थे। बीएफ.7 वैरिएंट के लक्षण गंभीर नहीं हैं, लेकिन इसमें तेजी से फैलने की क्षमता है।

जानकारी के लिए आपको बता दे कि बीते एक साल से कोरोना के लक्षणों में कोई खास बदलाव देखने को नहीं मिला है। इसकी मुख्य वजह यह हो सकती है कि पिछले एक साल से दुनियाभर में ओमिक्रॉन वेरिएंट मुख्य रूप से लोगों को अपनी चपेट में रहा है। डेल्टा के बाद से ही कोरोना के किसी नए वेरिएंट का पता नहीं चला है। ऐसे में बीते एक साल से दुनियाभर में कोरोना के मरीजों में ओमिक्रॉन के लक्षण ही देखने को मिल रहे हैं।

बीएफ.7 अमेरिका, ब्रिटेन, बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और डेनमार्क सहित दुनियाभर के कई अन्य देशों में पाया गया है, लेकिन यह जरूरी नहीं कि चीन के अलावा अन्य देशों में भी उतना ही खतरनाक साबित हो। भारत में भी अभी इसके मामले कम ही दिखने को मिल रहे हैं। जबकि ओमीक्रोन वैरिएंट के ही सब वेरिएंट XBB के मामले ज्यादा सामने आ रहे हैं।