sehore। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM shivraj singh chouhan) ने शुक्रवार को सीहोर जिले के नसरुल्लागंज और शाहगंज में मामा कोचिंग क्लास का शुभारंभ किया।  ‘Mama Coaching classes’ के शुभारंभ समारोह को वर्चुअली संबोधित करते हुए CM शिवराज ने कहा कि, शहर हो या गांव, सभी जगह के बच्चों में प्रतिभा और क्षमता होती है। यदि सही दिशा मिल जाए तो वे चमत्कार कर सकते हैं। परिश्रम से सफलता के पथ पर आगे बढ़ना आसान होता है। उन्होंने आगे कहा, मेरे मन में भाव आया कि मेरे बच्चों को महानगरों में लाखों रुपए देकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करना पड़ती हैं। इसमें कई बच्चें पैसों के आभाव में अपना सपना पूरा नहीं कर पाते थे। लकिन, अब पैसा नहीं बनेगा बच्चों की पढ़ाई में बाधा

बता दे कि, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जिस ‘मामा कोचिंग क्लासेस’ का शुभारंभ किया है उसमे 275 नसरुल्लागंज और 175 बच्चे शाहगंज के चयनित हुए थे। चयनित बच्चे ही इस कोचिंग में तैयारियां कर सकेंगे। चयनित बच्चों को इंदौर की कौटिल्य ऐकेडमी द्वारा नि:शुल्क कोचिंग दी जाएगी। नि:शुल्क कोचिंग प्राप्त करने के लिए बीते कुछ दिन पहले बच्चों का पॉलेटेक्निक कॉलेज में टेस्ट लिया गया था।

Also Read – सानिया मिर्जा ने की संन्यास की घोषणा, इस टूर्नामेंट के बाद टेनिस को कह देंगी अलविदा

सीहोर जिले के दोनों नगर के बच्चों को नि:शुल्क प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए नगर के पॉलिटेक्निक कॉलेज में मामा कोचिंग क्लासेस का शुभारंभ किया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विद्यार्थियों को परिश्रम करते हुए सफलता के पथ पर आगे बढ़ते रहने के लिए प्रेरित भी किया। उन्होंने कहा, मनुष्य ईश्वर का अंश है, अमृत का पुत्र है, अनंत शक्तियों का भंडार समाए हुए हैं। यदि आत्मविश्वास हो और अनुकूल वातावरण हो तो किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में विद्यार्थी सफल हो सकते हैं। उन्हें योग्यता के आधार पर अवश्य सम्मानजनक स्थान मिलेगा।

मामा कोचिंग क्लास के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के पुत्र कार्तिकेय सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा प्रदेश के युवाओं के लिए एक लाख शासकीय नौकरियों के पदों पर भर्ती निकाली जा रही है। मामा कोचिंग क्लासेस के माध्यम से नसरूल्लागंज एवं शाहगंज के सभी छात्र-छात्राएं पूरी मेहनत और लगन के साथ इन कोचिंग में पढ़ाई करें।