UN में चीन और पाकिस्तान की फिर हुई बेइज्जती, ये रही वजह

अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने वैश्विक समुदाय को संबोधित करते हुए खास तौर पर चीन और पाकिस्‍तान को खरी-खोटी सुनाई।

0
63
pakistan

कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद से बोखलाया पाकिस्तान दुनियाभर के सामने मदद के लिए गिड़गिड़ा रहा हैं। पाकिस्‍तान और उसका साथ दे रहे चीन का असल चेहरा संयुक्त राष्ट्र में सामने आ गया हैं। दरअसल, यूएन में धार्मिक अल्पसंख्यकों की सुरक्षा पर हुई विशेष बैठक में अमेरिका, ब्रिटेन और कनाडा ने वैश्विक समुदाय को संबोधित करते हुए खास तौर पर चीन और पाकिस्‍तान को खरी-खोटी सुनाई।

हालांकि पाकिस्तान और चीन में हो रहे धार्मिक अल्‍पसंख्‍यकों पर अत्याचारों और उनके ह्यूमन राइट्स के उल्‍लंघन का मुद्दा खास तौर पर उठाया गया जिसमे दुनिया भर के सामने इस मुद्दे को बेनकाब कर सच्चाई सामने लाई गई। इस मुद्द पर चीन और पाकिस्तान को खूब खरी खोटी सुनाई गई। अमेरिका के प्रतिनिधिक सैम ब्राउनबैक बोले पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यक या तो बहुतसंख्‍यक समुदाय के असामाजिक तत्वों के हाथों पीड़ित होते हैं या भेदभावपूर्ण कानूनों के माध्यम से पीड़ित रहते हैं।

साथ ही उन्होंने चीन के लिए कहा कि हम चीन में सरकार द्वारा धार्मिक स्वतंत्रता पर व्यापक और अनुचित प्रतिबंधों को बढ़ाने के लिए काफी चिंतित हैं। हम चीनी सरकार से सभी के मानवाधिकारों और मौलिक स्वतंत्रता का सम्मान करने का अनुरोध करते हैं।

https://twitter.com/ANI/status/1164728073243299843\

वहीं, ब्रिटेन के प्रतिनिधि लॉर्ड अहमद ने कहा कि ब्रिटेन ने दुनिया भर में धार्मिक समुदायों से अल्पसंख्यकों के अधिकारों के लिए बात की है। विशेष तौर पर चीन में उइगर से और पाक में ईसाई अहमदीयों से।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here