Punjab: मुख्यमंत्री भगवंत मान ने अपने ही मंत्री को किया बर्खास्त, भ्रष्टाचार के सबूत मिलने पर लिया एक्शन

भगवंत मान की सरकार में विजय सिंगला स्वास्थ्य मंत्री के पद पर थे. उनके खिलाफ पदाधिकारियों से कमीशन लेने और भ्रष्टाचार करने के आरोप सामने आ रहे थे. आरोप सामने आने के बाद जब सबूत जुटाए गए तो वह विजय सिंगला के खिलाफ निकले जिसके चलते भगवंत मान ने उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया.

Punjab: पंजाब सरकार से जुड़ी एक बड़ी खबर हाल ही में सामने आई है मुख्यमंत्री भगवंत मान (CM Bhagwant Mann) ने अपने ही मंत्री को बर्खास्त कर दिया है. मुख्यमंत्री की ओर से स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला (Vijay Singla) को बर्खास्त किया गया है बताया जा रहा है कि उन पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए थे जो सिद्ध हो गए हैं. भगवंत मान ने पंजाब पुलिस को मंत्र के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश भी दे दिए हैं.

भगवंत मान की सरकार में विजय सिंगला स्वास्थ्य मंत्री के पद पर थे. उनके खिलाफ पदाधिकारियों से कमीशन लेने और भ्रष्टाचार करने के आरोप सामने आ रहे थे. आरोप सामने आने के बाद जब सबूत जुटाए गए तो वह विजय सिंगला के खिलाफ निकले जिसके चलते भगवंत मान ने उन्हें मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया.

Must Read- कोरोना के बाद अब फ़ैल रहा है Monkeypox, जानें इसके लक्षण

मामले में भगवंत मान का कहना है कि एक परसेंट भी भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जनता ने बहुत उम्मीद के साथ आम आदमी पार्टी की सरकार को बनवाया है और यह हमारा कर्तव्य है कि हम जनता की उम्मीद पर खरा उतरे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने प्रण लिया था कि हम भ्रष्टाचार को उखाड़ कर फेंक देंगे. हम सब उनके सिपाही हैं और एक परसेंट भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. भगवंत मान ने अपने ही मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में सरकार से बाहर करते हुए अधिकारियों नेताओं के लिए एक बड़ा संदेश दिया है.

पंजाब में पहली बार देखा गया है जब किसी मुख्यमंत्री ने अपने ही नेता को बर्खास्त किया हो. चुनाव के दौरान भी आम आदमी पार्टी की ओर से सत्ताधारी कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के कई मुद्दे निकाले गए थे और भ्रष्टाचार खत्म करने का वादा किया था.