भाजपा के पूर्व विधायक ने थामा कांग्रेस का दामन, बढ़ी दिग्विजय सिंह की ताकत

0
150
jitendra daga

लोकसभा चुनाव में भोपाल लोकसभा सीट पर देशभर की नजर टिकी हुई। इस सीट पर पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह और मालेगांव बम धमाके में आरोपी व भाजपा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बीच दिलचस्प मुकाबला होने वाला है। इसी बीच मतदान से कांग्रेस ने भोपाल में भाजपा को बढ़ा झटका दिया है। रविवार को भाजपा के पूर्व विधायक जितेंद्र मन्नू डागा ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है। कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजयसिंह और वरिष्ठ नेता सुरेश पचैरी की मौजूदगी में डागा ने कांग्रेस की सदस्यता ली है। डागा के कांग्रेस में शामिल होने से जहां भाजपा को नुकसान उठाना पड़ेगा। वहीं कांग्रेस को इसका चुनाव में सीधा फायदा होता दिख रहा है।

भाजपा पर बोला हमला

कांग्रेस में शामिल होने के बाद जितेंद्र डागा ने कहा कि मेरे विधायक रहते हुए भी कांग्रेस नेताओं से अच्छे संबंध रहे। भाजपा पर हमला बोलते हुए डागा ने कहा कि भाजपा ने बुजुर्ग नेताओ का अपमान किया है।उन्होंने कहा कि जब मैंने पार्टी में हो रहे भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाई तो मुझे दबाया गया।

Read More : साध्वी प्रज्ञा से तुलना करने पर उमा भारती बोलीं, मैं तो मुर्ख हूं, वो महान संत है

भाजपा से चल रहे थे नाराज

विधानसभा चुनाव में हुजूर विधानसभा सीट से भाजपा ने जितेंद्र मन्नू डागा को टिकट नहीं देते हुए रामेश्वर शर्मा को टिकट दिया था। इससे नाराज होकर डागा ने बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़ा था। तभी से उनके कांग्रेस में शामिल होने के कयास लगाए जा रहे थे। बताया जाता है कि डागा की ग्रामीण, कोलार क्षेत्र में अच्छी खासी पकड़ है।

हुजूर के बाद बैरसिया मे कांग्रेस की नजर।

भाजपा के पूर्व विधायक जितेंद्र डागा के बाद अब कांग्रेस बैरसिया के भाजपा पूर्व विधायक एवं हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा से बागी होकर चुनाव लड़ने वाले ब्रह्मानंद रत्नाकर भी कांग्रेस का हाथ थाम सकते है। कांग्रेस के बड़े नेताओं के वे संपर्क में है।

Read More : दिल्ली लोकसभा चुनाव में सिर्फ 18 महिला प्रत्याशी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here