विपिन नीमा

मैच शुरू होने से पहले शहर का हर व्यक्ति इस बात की उम्मीद लगाए बैठा था कि आज के मैच में लोकल बॉय रजत पाटीदार को एक्शन में देखने का मौका मिलेगा , लेकिन टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में जब पाटीदार का नाम नही आया तब पूरे शहर की उम्मीदों पर पानी फिर गया। इस तरह रजत पाटीदार का नाम भी उस सूची में शामिल हो गया टीम इंडिया की तरफ से अपने होम पिच पर खेलने का सौभाग्य नही मिला। वैसे पाटीदार का नाम प्लेइंग इलेवन के इर्द – गिर्द ही घूम रहा था , लेकिन ऐनवक्त उनका कट गया। विगत 40 सालों में इंदौर के कई खिलाड़ी टीम इंडिया के लिए खेले लेकिन आज तक होलकर स्टेडियम में किसी को टेस्ट , वन डे तथा टी – 20 मैच खेलने का मौका नही मिला। इसी प्रकार इन
————————————–
40 साल पहले इंदौर को मिला था इंटर- नेशनल मैचों के दर्जा
———————————–
जानकारी के मुताबिक इंदौर में पहला वन-डे मैच नेहरू स्टेडियम में 1 दिसंबर 1983 को भारत-वेस्टइंडीज के बीच खेला गया था। इसी स्टेडियम में आखिरी वन-डे 31 मार्च 2001 को आॅस्ट्रेलिया के साथ हुआ था। इसके बाद 2006 से होलकर स्टेडियम मैच होने लगे है। जबकि होलकर स्डेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की शुरूआत अप्रेल 2006 में हुई। 6 अप्रेल 2006 को पहला वन डे इंडिया – इंग्लैंड के बीच खेला गया था। विगत 40 साल में इंदौर में कुल 14 वन डे , 2 टेस्ट और 2 टी – 20 मैच हुए , लेकिन इंदौर व प्रदेश के किसी भी खिलाड़ी को होम ग्राउंड नेहरु स्टेडियम या होलकर स्टेडियम पर खेलने का अवसर नही मिला।
————————————–
40 साल में पहली बार इंदौर की धरती पर अंपायरिंग का मौका
————————————-
होलकर स्टेडियम में इंदौर के वरिष्ठ इंटरनेशनल अम्पायर नरेंद्र मेनन के पुत्र नितिन मेनन भारत और न्यूजीलैंड के बीच मैच की अंपायरिंग करते नजर आए। खास संयोग है कि 40 साल में पहली बार इंदौर के मेनन को अंतरराष्ट्रीय वनडे मैच में इंदौर की धरती पर अंपायरिंग का अवसर मिला। मिलने से पिता गदगद हैं.। नितिन ने 14 साल की उम्र से क्रिकेट खेलने लगे थे। अंडर-16 से मध्यप्रदेश के लिए तीन साल तक खेलने के बाद अंडर-19 भी तीन साल खेले। इस मैच से पहले मेनन 68 अंतरराष्ट्रीय मैचों में अंपायरिंग कर चुके हैं। इसमे 11 टेस्ट, 30 वनडे और 27 टी20 शामिल है। इसके अलावा वह कई साल से इंडियन प्रीमियर लीग में अंपायरिंग कर रहे हैं.
————————————–
लंबे समय तक टीम में रहे हिरवानी भी इंदौर में नही खेले
———————————
टीम इंडिया में धमाकेदार इंट्री करने वाले फिरकी गेंदबाज नरेंद्र हिरवानी ने अपने पहले ही टेस्ट मैच की दोनो परियों में 8 – 8 विकेट लेकर विश्व क्रिकेट में तहलका मचा दिया था। इसके बाद वे लगातार टीम इंडिया के लिए खेले । उन्होंने अपने क्रिकेट करियर में 17 टेस्ट मैच ओर 18 वन मैच देश – विदेश में खेले , लेकिन अपने होम ग्राउंड (इंदौर) पर उन्हें कभी खेलने का सौभाग्य नही मिला। इसी प्रकार अमय खुरासिया , नमन ओझा , और वेंकटेश अय्यर भी टीम इंडिया के लिए खेले , लेकिन उन्हें भी किसी भी फार्मेट में घरू मैदान पर एक भी मैच खेलने का सौभाग्य नहीं मिला है।
————————————–
इंदौर के ये खिलाड़ी टीम इंडिया की तरफ से होम पिच पर नही खेले
————————————
* नरेंद्र हिरवानी
17 टेस्ट
18 वन डे
(1988 – 96)
____
* अमय खुरासिया
कोई टेस्ट नही खेला
12 वन डे
(1999- 01)
———————-
* आवेश खान
– कोई टेस्ट नही खेला
– 2 वन डे
– 15 टी – 20
2021- 22
—————
* वेंकटेश अय्यर
– कोई टेस्ट नही खेला
– 2 वन डे
– 9 टी – 20
– 22 वन डे
2021- 22
————————————–
* रजत पाटीदार
टीम इंडिया की 15 सदस्यीय
टीम में
टेस्ट , ODI , T – 20
नही खेले (2023)
—————————-
प्रदेश ये खिलाड़ी भी टीम इंडिया के लिए खेले, लेकिन यहां नही खेले
——————————-
– नमन ओझा
उज्जैन
1 टेस्ट खेला
1 वन डे
2 टी – 20
(हालांकि इनका होम ग्राउंड इंदौर रहा)
———————
* राजेश चौहान
भिलाई
21 टेस्ट
35 वन डे
(1993- 98)
____
* जे पी यादव
भोपाल
कोई टेस्ट नही खेला
12 वन डे
(2002 – 05)
————————————-