आर्मी डे : सेना के घातक हथियारों को देख चकित रह गए बच्चे

0
60

इंदौर। आज इंदौर में पहली बार आर्मी-डे पर भारतीय सेना अपने हथियारों का प्रदर्शन किया। सेना ने प्रदर्शन के लिए हथियारों की खेप दशहरा मैदान पर उतारी, बल्कि बड़े-बड़े टैंक मैदान खड़े कर दिए। आज से शुरू हो रही पांच दिवसयी प्रदर्शनी में शामिल होेने के लिए स्कूली बच्चों को न्योता भी दिया गया। सेना के हथियारों को देखने के लिए बच्चों में काफी जिज्ञासा भी देखी गई. बड़ी संख्या में लोगों ने हथियारों के प्रदर्शनी को देखा. सभी लोग सेना के हथियारों के साथ तस्वीरें लेने के लिए बेहद उत्सुक नजर आए.

Posted by Ghamasan on Tuesday, January 14, 2020

जानकारी अनुसार 13 जनवरी की रात से ही सेना के जवानों और हथियारों की खेप आना शुरू हो गई थी। महू से लगातार गाड़ियां आने लगी, जिन्हें देखकर आसपास के रहवासी चैंक गए। कुछ लोगों ने जिज्ञासा के चलते पूछ लिया, तब जाकर राहत की सांस ली। मौज्ूद फौजियों ने बताया कि 15 जनवरी को भारतीय सेना मनाया जाता है, जिसके उपलक्ष्य में हथियारों की प्रदर्शनी लगाई जा रही है। रातभर सेना की गाड़ियों के आने-जाने का सिलसिला चलता रहा।

Posted by Ghamasan on Tuesday, January 14, 2020

दो टैंक सहित कई बख्तरबंद गाड़ियां पहुंची, जिसमें हथियार थे। मौके कर्नल शिवेंद्र कुमार पाल व लेफ्टिनेंट दीपक कुमार के निर्देश पर प्रदर्शनी की तैयारियां की जा रही है। वहीं संस्था लक्ष्यजीत के संयोजक लोकेंद्र सिंह राठौर व राज सिंह गौड़ भी मौजूद थे। आयोजन में सहयोग के लिए कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने भी अफसरों की बैठक बुलाई थी। राठौर के मुताबिक प्रदर्शनी के दौरान स्कूल व काॅलेज के विद्यार्थियों की कांउसिलिंग भी की जाएगी, जिसको लेकर सभी स्कूलों को आमंत्रण दिया गया है। दशहरा मैदान पर होने वाले आयोजन को लेकर हिंद रक्षक संगठन के गरबों में अष्टमी के दिन मुख्य अतिथि तौर पर लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण व सत्य नारायण सत्तन थे। महू से बड़ी संख्या में फौजी व ट्रैनी मेजर भी आए थे। सत्तन और राठौर ने लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण से आग्रह किया था कि देशभर में कई जगहों पर सेना अपने हथियारों की प्रदर्शनी लगाती है, इसलिए इंदौर में भी लगाई जाए।

Posted by Ghamasan on Tuesday, January 14, 2020

तब लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण ने आर्मी-डे पर हथियारों की प्रदर्शनी लगाने पर सहमति दी थी, जिसके लिए विभाग व गृह मंत्रालय से अनुमति ली गई। इंदौर में पहली बार आर्मी-डे पर भारतीय सेना अपने हथियारों का प्रदर्शन करने जा रही है। सेना ने प्रदर्शन के लिए हथियारों की खेप दशहरा मैदान पर उतारी है, बल्कि बड़े-बड़े टैंक मैदान खड़े कर दिए गए हैं। 15 जनवरी से शुरू हो रही पांच दिवसयी प्रदर्शनी में शामिल होेने के लिए स्कूली बच्चों को न्योता दिया रहा है। जानकारी अनुसार 13 जनवरी की रात से ही सेना के जवानों और हथियारों की खेप आना शुरू हो गई थी। महू से लगातार गाड़ियां आने लगी, जिन्हें देखकर आसपास के रहवासी चैंक गए। कुछ लोगों ने जिज्ञासा के चलते पूछ लिया, तब जाकर राहत की सांस ली। मौज्ूद फौजियों ने बताया कि 15 जनवरी को भारतीय सेना मनाया जाता है, जिसके उपलक्ष्य में हथियारों की प्रदर्शनी लगाई जा रही है। रातभर सेना की गाड़ियों के आने-जाने का सिलसिला चलता रहा। दो टैंक सहित कई बख्तरबंद गाड़ियां पहुंची, जिसमें हथियार थे।

Posted by Ghamasan on Tuesday, January 14, 2020

मौके कर्नल शिवेंद्र कुमार पाल व लेफ्टिनेंट दीपक कुमार के निर्देश पर प्रदर्शनी की तैयारियां की जा रही है। वहीं संस्था लक्ष्यजीत के संयोजक लोकेंद्र सिंह राठौर व राज सिंह गौड़ भी मौजूद थे। आयोजन में सहयोग के लिए कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने भी अफसरों की बैठक बुलाई थी। राठौर के मुताबिक प्रदर्शनी के दौरान स्कूल व काॅलेज के विद्यार्थियों की कांउसिलिंग भी की जाएगी, जिसको लेकर सभी स्कूलों को आमंत्रण दिया गया है। दशहरा मैदान पर होने वाले आयोजन को लेकर हिंद रक्षक संगठन के गरबों में अष्टमी के दिन मुख्य अतिथि तौर पर लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण व सत्य नारायण सत्तन थे। महू से बड़ी संख्या में फौजी व ट्रैनी मेजर भी आए थे। सत्तन और राठौर ने लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण से आग्रह किया था कि देशभर में कई जगहों पर सेना अपने हथियारों की प्रदर्शनी लगाती है, इसलिए इंदौर में भी लगाई जाए। तब लेफ्टिनेंट जनरल अनंत नारायण ने आर्मी-डे पर हथियारों की प्रदर्शनी लगाने पर सहमति दी थी, जिसके लिए विभाग व गृह मंत्रालय से अनुमति ली गई।

Posted by Ghamasan on Tuesday, January 14, 2020

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here