■ विपिन नीमा

इंदौर। मध्यप्रदेश शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले आयोजनों ग्लोबल इनवेस्टर समिट और प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए शहर को सजाने – संवारने के लिए इंदौर नगर निगम और इंदौर विकास प्राधिकरण जमकर जुटा हुआ है। वही दूसरी ओर मप्र विद्युत वितरण कंपनी भी आयोजन स्थल समेत अन्य प्रमुख स्थलों पर पर्याप्त बिजली सप्लाई की प्रभावी तैयारी कर रही है। सरकार ने मेहमानों के लिए स्वादिस्ट खान – पान की व्यवस्था की है ।

इसके अलावा उनको पर्यटन स्थलों की फ्री में सैर कराने के लिए विशेष ऑफर तैयार किए है। प्रवासी सम्मेलन में 2 हजार से भी ज्यादा मेहमान आएंगे। कार्यक्रम के अंतिम दिन यानी 10 जनवरी को राष्ट्रपति द्वारा 30 प्रतिष्ठित सदस्यों को प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। पिछले 16 सम्मेलनों में 269 प्रवासी भारतीय इस पुरस्कार से सम्मानित हो चुके है।

Also Read – Gold Silver Price Today: सोने में आई तेजी, चांदी में भी भारी उछाल; जानें 10 ग्राम गोल्ड की कीमत

आयोजन स्थल पर 33 केवी की दो लाइनों से सप्लाय निर्बाध रहेगी

शहर में जनवरी में होने वाली ग्लोबल इंवेस्टर समिट और प्रवासी भारतीय सम्मेलन की तैयारी प्रशासन के साथ ही बिजली कंपनी द्वारा की जा रही है। आयोजन स्थलों के पास और करीब की होटल के पास जहां मेहमान ठहरेंगे, वहां बिजली का विशेष बंदोबस्त होगा। निरंजनपुर के लिए भी बिजली कंपनी लाइनों संबंधी कार्य में प्रशासन को पूरा सहयोग देगी।

शहर अधीक्षण यंत्री मनोज शर्मा ने बताया कि प्रबंध निदेशक अमित तोमर के निर्देशानुसार लगभग 25 स्थानों पर नए डीटीआर(डिस्ट्रीब्यूशन ट्रांसफार्मर ) लगाए जा रहे है, या क्षमता में बढ़ोत्तरी की जा रही है। आयोजन स्थल पर 33 केवी की दो लाइनों से सप्लाय निर्बाध रहेगी, लाइनों की उच्च स्तरीय पेट्रोलिंग की जा रही है। करीब 30 डीटीआर के व्यापक मेंटेनेंस कर कवर्ड किया जा रहा है। आयोजन के लिए मुख्य अभियंता, अधीक्षण यंत्री, कार्यपालन यंत्री समेत लगभग 10 इंजीनियर व 50 कर्मचारी तैनात रहेंगे।

इस बार भी 30 प्रतिष्ठित सदस्यों का होगा सम्मान

प्रवासी भारतीयों के 30 प्रतिष्ठित सदस्यों को 17वें पीबीडी सम्मेलन के दौरान प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। पिछले 15 वे व 16वे सम्मेलन मे भी 30 प्रतिष्ठित
सदस्यों का सम्मान पुरस्कार दिए गए थे। गत 2003 से 2021 तक 269 लोंगों को प्रवासी भारतीय सम्मान मिल चुका है।

इसलिए दिया जाता है भारतीय मूल के व्यक्ति को सर्वोच्च सम्मान

प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार एक अनिवासी भारतीय, भारतीय मूल के व्यक्ति को दिया जाने वाला सर्वोच्च सम्मान है; या उनके द्वारा स्थापित और संचालित कोई संगठन या संस्था।यह पुरस्कार विदेशों में भारत के बारे में बेहतर समझ बनाने, भारत के कारणों का समर्थन करने और स्थानीय भारतीय समुदाय के कल्याण के लिए काम करने के लिए भारतीय डायस्पोरा के योगदान को याद करने के लिए है। चयनित प्रतिष्ठित भारतीय प्रवासी सदस्यों को माननीय राष्ट्रपति की उपस्थिति में प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है।

मेहमानों के लिए प्रदेश सरकार ने विशेष ऑफर तैयार किए हैं

• मध्य प्रदेश के सभी राजकीय पुरातत्व संग्रहालयों और स्मारकों में पीबीडी प्रतिनिधियों का पूरक प्रवेश।
• मध्य प्रदेश के सभी राष्ट्रीय उद्यानों में पूरक प्रवेश का आनंद लें।
• प्रतिनिधियों के लिए हवाई अड्डे से होटल और होटल से स्थान तक मुक्त शटल सेवा उपलब्ध कराई गई।
• मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 10 और 11 जनवरी 2023 को महाकाल दर्शन और महाकाल लोक कॉरिडोर- उज्जैन के लिए पूरक मुफ्त शटल सेवाओं का आनंद लें।
• मध्य प्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम द्वारा पीबीडी प्रतिनिधियों के लिए विशेष टूर पैकेज तैयार किए गए हैं।

इंदौर से पहले इन शहरों में हो चुके है सम्मेलन

दिल्ली में 8 बार प्रवासी भारतीय सम्मेलन हो चुका है। इसके अलावा मुम्बई , हैदराबाद, चेन्नई, जयपुर, तिरुअंनतपुरम, गांधीनगर, बैंगलूरु , सिंगापुर, वाणारसी 1-1 बार हुआ है। मप्र को पहली बार सम्मेलन की मेजबानी मिली है। इस बार कन्वेंशन का मुख्य विषय “प्रवासी: अमृत काल में भारत की प्रगति के लिए विश्वसनीय भागीदार” है।