भाजयुमो के जिला मंत्री पर दुष्कर्म का प्रकरण हुआ दर्ज, उज्जैन की युवती के साथ की ज्यादती

देवास के भाजयुमो के जिला मंत्री कुणाल से उसकी दोस्ती सोशल मीडिया पर हुई थी। जिसके बाद उसने देवास बुलाकर उसके साथ संबंध बनाए।

उज्जैन। जिला भाजपा उपाध्यक्ष के पुत्र पर सोशल मीडिया के जरिए युवती से दोस्ती कर शादी का झांसा देकर शारीरिक संबंध बनाने का मामला सामने आया है। युवती उज्जैन की रहने वाली है, युवती की शिकायत पर भाजपा के उपाध्यक्ष के पुत्र एवं भाजयुमो के जिला मंत्री कुणाल सेंगर के खिलाफ भैरवगढ़ थाने में दुष्कर्म का प्रकरण दर्ज किया गया है। कुणाल के पिता निरंजन सिंह सेंगर देवास जिला भाजपा के उपाध्यक्ष हैं।

 Must Read- MP: टिकट बंटवारे को लेकर आपस में भिड़े कांग्रेसी, एक दूसरे पर जमकर चलाए लात-घूंसे

युवती ने बताया कि देवास के भाजयुमो के जिला मंत्री कुणाल से उसकी दोस्ती सोशल मीडिया पर हुई थी। जिसके बाद उसने देवास बुलाकर उसके साथ संबंध बनाए। कुणाल के खिलाफ पुलिस ने विभिन्न धाराओं में प्रकरण दर्ज कर लिया है।इस मामले के सामने आने के बाद देवास भाजपा के जिला अध्यक्ष राम सोनी ने कुणाल को पद से हटा दिया है। युवती ने बताया कि कुणाल के चचेरे भाई जयवर्धन ने भी उसे जान से मारने की धमकी भी दी थी। युवती की शिकायत  के बाद पुलिस कुणाल और जयवर्धन पर प्रकरण दर्ज कर लिया है लेकिन इस मामले की खबर लगते ही दोनों आरोपी फरार हो गए हैं, पुलिस दोनों की तलाश में जुटी हुई है।

मिली जानकारी के अनुसार पीड़ित युवती इंदौर गेट क्षेत्र की रहने वाली है। युवती की सोशल मीडिया के माध्यम से देवास जिले के सोनकच्छ निवासी कुणाल से दोस्ती हुई थी। दोनों 1 साल तक एक दूसरे के संपर्क में रहे। 22 फरवरी 2021 को कुणाल ने युवती को उज्जैन के कालियादेह पैलेस के समीप स्थित अपने फार्म हाउस पर बुलाया और शादी का झांसा देकर कुणाल ने युवती के साथ संबंध बनाए। दोनों की कई बार मुलाकात हुई और जब युवती गर्भवती हो गई तब कुणाल ने एक निजी अस्पताल में युवती का गर्भपात करा दिया। युवती ने जब शादी के लिए कुणाल पर दबाव बनाया तो कुणाल व उसके चचेरे भाई ने उसे जान से मारने की धमकी देने लगे।

Must  Read- भाजपा में संगठन के बाद अब निगम चुनाव में भी अधेड़, पुराने कार्यकर्ताओं हाशिए पर

कलेक्टर आशीष सिन्हा ने बताया कि इस पूरे मामले में प्रकरण दर्ज कर लिया है और दोष सिद्ध होने पर संबंधित डॉक्टर व अस्पताल पर भी कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी। भाजयुमो जिला मंत्री के ऊपर इस मामले पर हुई FIR के बाद कुणाल को जिला मंत्री के पद से हटा दिया गया है।