21 दिन के लाॅकडाउन में हो सकता है 9 लाख करोड़ नुकसान, क्या मिलेगा कोई राहत पैकैज

0
corona virus

नई दिल्ली। कोरोना से बचाव के लिए प्रधानमंत्री ने मंगलवार रात को ऐलान कर देशभर में लाॅकडाउन करने का ऐलान किया। 21 दिनों के इस लाॅकडाउन में लोगों को पुरी तरह से घर में रहने की हिदायत दी गई है। लेकिन बार्कलेज की रिपोर्ट का कहना है कि इससे देश को लगभग 9 लाख करोड़ रुपयों का नुकसान हो सकता है। ये देश की जीडीपी का 4 फीसदी होगा।

जानकारों का कहना है कि देश की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए पैकेज की घोषणा करने की आवश्यकता है। रिपोर्ट के अनुसार 21 दिन तक देश में तालाबंदी के कारण 9 लाख करोड़ रुपयों का नुकसान हो सकता है लेकिन महाराष्ट्र और अन्य राज्यों में पहले से ही लाॅकडाउन लगा दिया था। इसलिए ये नुकसान और ज्यादा भी हो सकता है। रिपोर्ट के अनुसार सरकार राहत पैकेज देती है तो ऐसे में वित्तीय घाटा बढ़कर 5 फीसदी के पार पहुंच सकता है।

ऐसे मे इस नुकसान से बचा जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अगले 48 घंटे में वित्त मंत्री आर्थिक पैैकेज का ऐलान कर सकती है। भारतीय रिजर्व बैंक की 3 अप्रैल को होने वाली समीक्षा बैठक में ब्याज दरें घटाने पर फैसला हो सकता है। ऐसे में अंदाजा लगाया जा रहा है कि राहत पैकेज का भी ऐलान हो सकता है।