CRPF की 80वीं वर्षगांठ : डोभाल बोले, देश नहीं भूलेगा पुलवामा हमला| ajit doval wont forget sacrifice of pulwama crpf jawans

0
125
Ajit- Doval

सीआरपीएफ की 80वीं स्थापना दिवस पर पुलवामा में शहीद हुए जवानों को याद किया। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने हरियाणा में गुरुग्राम के कादरपुर में परेड का निरीक्षण किया। इस मौकेे पर डोभाल ने कहा कि देश का नेतृत्व आतंकवाद के किसी भी कृत्य और इसे बढ़ावा देने वाले लोगों से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

हरियाणा में गुरुग्राम के कादरपुर में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 80वें स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने परेड का निरीक्षण किया। इस दौरान अजित डोभाल ने कहा कि देश का नेतृत्व आतंकवाद के किसी भी कृत्य और इसे बढ़ावा देने वाले लोगों से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

डोभाल ने अपने संबोधन में कहा कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले को भारत न तो भूला है और न ही भूलेगा।

डोभाल ने कहा कि जब भी हमारी बैठकें होती हैं, तो चर्चा होती है, कि किस बल को भेजा जाना चाहिए, कितनी बटालियनों को भेजें, तब हम कहते हैं कि CRPF बल को भेजा जाए।

उन्होंने कहा मैं आपको आश्वासन देता हूं कि देश का नेतृत्व इस तरह के (पुलवामा जैसे) आतंकी हमलों से और इसे बढ़ावा देने वालों से कारगर तरीके से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए डोभाल ने कहा कि यह बेहद त्रासदीपूर्ण घटना थी। उन्होंने कहा कि देश इन जवानों और इनके परिवारों का हमेशा ही ऋणी रहेगा। डोभाल ने कहा सीआरपीएफ को शांति सुनिश्चित करने और कानून व्यवस्था बनाए रखने में अहम भूमिका निभानी है। देश का प्रमुख अंदरूनी सुरक्षा बल होने के नाते सीआरपीएफ के कंधों पर अपने दायित्व का निर्वाह करने की बड़ी जिम्मेदारी है।

Read More:- स्थानीय चौकीदारों जरा आरटीओ के इस भ्रष्टाचार पर भी नजर डालिए | Just look at the corruption of RTO

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here