ठेकेदारों के काम बंद करने से प्राधिकरण के 500 करोड़ हुए ठप, झुकी सरकार

इंदौर: सीमेंट सरिया के भाव बढ़ने के कारण इंदौर विकास प्राधिकरण की कई योजनाओं में विकास के काम बंद हो गए तब कहीं जाकर सरकार झुकी और ठेकेदारों को बड़े हुए भाव के हिसाब से पैसा देने की मंजूरी दी।

इंदौर: सीमेंट सरिया के भाव बढ़ने के कारण इंदौर विकास प्राधिकरण की कई योजनाओं में विकास के काम बंद हो गए तब कहीं जाकर सरकार झुकी और ठेकेदारों को बड़े हुए भाव के हिसाब से पैसा देने की मंजूरी दी।

इंदौर विकास प्राधिकरण रायता मुंडला और एम आर टेन पर बस स्टैंड बना रहा है। सुपर कॉरिडोर पर काम चल रहा है। इसके अलावा दूसरी योजनाओं में भी पुराने काम शुरू हो गए हैं। नए काम शुरू होना है, लेकिन लगभग 500 करोड के काम प्रभावित हो गए हैं।

Also Read – पोते ने दादा-दादी के सामने ही शादी करने की ठानी, दिसंबर में होने वाले फेरे अभी लिए…

इसी कारण विकास प्राधिकरण अध्यक्ष जयपाल सिंह चावड़ा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से बात की थी। उसके बाद लोक निर्माण विभाग ने आदेश जारी कर दिया है कि निर्माण सामग्री के बढ़े हुए रेट के कारण ठेकेदारों को जिस रेट पर काम दिया है उससे ज्यादा पैसा दिया जाए, ताकि काम बंद न हो। प्राधिकरण के कुछ ठेकेदार तो काम करने को तैयार ही नहीं थे। अब कल सभी ठेकेदारों को अध्यक्ष चावड़ा ने बुलाया है। एक-एक करके सभी से काम शुरू करवाए जाएंगे। मेजर रोड बनाने के काम में भी बढ़ती महंगाई की समस्या आएगी। इसलिए उन ठेकेदारों से भी बात की जा रही है।

Also Read – Lions Club का कहना, अन्न का एक दाना भी झूठा नहीं छोड़े