अक्सर महिलाओं को किसी ना किसी वजह से लोगों की कहासुनी सुननी पड़ती हैं। ऐसे में कनाडा की रहने वाली एक महिला को 12 साल की आयु में हिर्सुटिज्म नामक बीमारी से ग्रसित हो गई थी। जिसकी वजह से उसके पूरे शरीर में बाल उगने शुरू हो गए और यहा तक की चेहरे पर दाढ़ी-मूंछे भी आने लग गई थी। इस बीमारी की वजह से वह हर रोज उनकों शेविंग करनी होती थी। इसका खुलासा खुद महिला ने किया हैं।

कैसे हुआ दाढ़ी-मूंछ से प्यार

22 साल की उम्र में महिला ने नौकरी करना शुरू की थी तब सोसायटी के प्रेशर में वह रोजाना 30 सास तक शेव करती थी। लेकिन टिकटॉक पर #LadyBeards के साथ दाढ़ी और मूंछ वाली महिलाओं का वीडियो देख कर महिला इंस्पायर हो गईं। उन्होंने अपनी खुशनुमा जिंदगी की शुरूआत टिकटॉक से की। उसने एक सोशल मीडिया पर कई वीडियो शेयर किए हैं।

Also Read : Wedding : शख्स ने रचाई 9 महिलाओं से एक साथ शादी, दो महिलाओं ने ग्रुप रिलेशनशिप को लेकर किया ये बड़ा खुलासा

क्या कहानी है उस महिला की

41 साल की नाम अनीसा बेनेट नाम की महिला है। वह कनाडा के न्यूफाउंडलैंड की रहनेवाली हैं। 12 साल की उम्र में अनियमित पीरियड्स के बाद बेनेट को पहली बार हार्मोनल डिसऑर्डर पॉलिसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम नामक बीमारी से ग्रसित हो गई थी। उसके कुछ दिन बाद महिला को दाढ़ी-मूंछ आने लगी तो वह दशकों तक ताने और इनसिक्योरिटी झेलती रही। लेकिन अब महिला को दाढ़ी-मूंछ से प्यार होने लगा हैं।

आगे बताती है कि, वह इससे अब ऊपर उठ चुकी हैं, अब महिला दाढ़ी शेव नहीं करती हैं। लेकिन खुद को कॉन्फिडेंट मानती हैं। प्यूबर्टी की शुरुआत से ही मेरी मूंछ उगने लगी थी। इस वजह से स्कूल में भी साथी मुझे छेड़ा करते थे। तब सब मुझे ‘बंदर’ और दूसरे नामों से चिढ़ाते थे।

छोटी उम्र में ये करती थी मां

टीनएज में बेनेट की मां, उनकी मूंछ को ब्लीच कर दिया करती थीं। लेकिन बढ़ती उम्र के साथ मूंछ और दाढ़ी घनी होने लगी। अब उनके चेहरे, हाथ, छाती, पेट और पैरों पर घने बाल हैं।

मिला पॉजिटिव रिस्पांस

बेनेट ने कहा कि नए लुक में जब वह बाहर जाती हैं तो कुछ लोग घूरते हैं लेकिन ज्यादातर लोग मुस्कुराते हुए मिलते हैं। बेनेट ने बताया कि टिकटॉक पर भी इस बदलाव के लिए उन्हें पॉजिटिव रिस्पांस मिल रहा है।