Rajnath Singh

आज ही के दिन ठीक 12 साल पहले पाक से आए आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकियों ने देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में खुल खेल खेला था और इन आतंकियों ने पूरी मायानगरी को दहला दिया था. इस आतंकी हमले में 18 पुलिसकर्मी सहित 166 लोगों की जान चली गई थी. देशभर में आज लोगों ने हमले में शहीद हुए सुरक्षाकर्मियों को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की है.

देश के नेताओं, क्रिकेटर्स, बॉलीवुड सितारों और आम लोगों ने शहीदों को याद कर उन्हें नमन किया है. वहीं इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी शहीदों को श्रद्धांजलि दी है और उन्होंने पड़ोसी देश पाकिस्तान को भी जमकर लताड़ लगाई है. राजनाथ सिंह ने मुंबई में हुए आतंकी हमले की बरसी पर कहा कि, ”वैसे तो 12 साल का समय लम्बा समय होता है लेकिन 26/11 की घटना को कोई भी स्वाभिमानी देश कभी भुला नहीं सकता. उस दिन आतंकवाद ने भारत की संप्रभुता को चुनौती दी थी और मुझे इस बात का गर्व है कि हमारे सुरक्षा बलों ने एक भी आतंकी जिंदा वापस जाने नहीं दिया था.”

आतंकवाद को ललकारते हुए सिंह ने कहा कि देश के भीतर तो आतंकवाद के ख़िलाफ़ कदम उठाए ही जा रहे हैं, जबकि हमारे जवान सीमा पर जाकर भी आतंकियों को खदेड़ने का काम कर रहे हैं. देश की जनता भी अब इस बात से भली-भांति परिचित हो चुकी है कि देश का आंतरिक और बाहरी चक्र काफी मजबूत बन गया है. जिससे देश में अब मुंबई आतंकी हमले जैसी घटना को अब आतंकवादी दोहरा नहीं सकते हैं.

बीते दिनों एक खबर आई थी, जिसमें यह जानकारी सामने निकले आई थी कि आतंकी इस बार 26/11 जैसे आतंकी हमले को दोहरा सकते हैं. हालांकि हमारे जवानों ने आतंकियों के बापाक मानसून पर पानी फेरते हुए उनका खात्मा कर दिया था. इस पर रक्षा मंत्री ने कहा कि हाल ही में हमने पड़ोसी देश की एक और भारत विरोधी कारवाई को नाकाम किया है. रक्षा मंत्री राजनाथ ने माना कि 6 साल के मोदी सरकार के कार्यकाल में देश ने बड़ा बदलाव देखा है और वो यह है कि भारत आतंकवाद को उसी की भाषा में जवाब देता है. वहीं रक्षा मंत्री ने भारत-चीन के बीच कई महीनों से जारी सीमा विवाद को लेकर कहा कि हमाए प्रयास है कि बातचीत कर शांतिपूर्ण तरीके से इस समस्या को हल किया जाए.