Breaking News

वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, जानिए- कैसे बदलता है फूलों का रंग

Posted on: 11 Sep 2017 13:09 by Ghamasan India
वैज्ञानिकों को मिली बड़ी सफलता, जानिए- कैसे बदलता है फूलों का रंग

नई दिल्ली: हम कई तरह के रंग-बिरंगे फूल देखते.है. कई बार हमारे मन में ख्याल भी आया है कि इन फूलो का रंग कैसे बदलता है. इसकी खोज में वैज्ञानिकों को बड़ी सफलता प्राप्त हुई है. जापान के वैज्ञानिकों ने CRISPR जीन एडिटिंग की मदद से फूलो के रंग बदलने का पता लगा लिया है.

वैज्ञानिकों ने एक जीन में फेरबदल कर बैंगनी रंग के मॉर्निग ग्लोरी फूल को सफेद कर दिया. शोधकर्ताओं के मुताबिक, वर्तमान में CRISPR जैसी जेनेटिक टेक्नोलॉजीं जापान का सामाजिक मुद्दा बनी हुईं हैं. इस अध्ययन के लिए वैज्ञानिकों ने मॉर्निग ग्लोरी फूल को चुना क्योंकि यह जापान के परंपरागत बागवानी मॉडल के दो पौधों में से एक है.

जापान की एग्रीकल्चर एंड फूड रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन (एनएआरओ) और योकोहामा सिटी यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने फूल का रंग बदलने के लिए उसके एक जीन डीएफआर-बी को लक्षित किया. इसमें सामने आया कि पौधों के तने, पत्तियों और फूलों के रंग के लिए एक विशेष एंजाइम जिम्मेदार होता है.

इस प्रसिद्ध और व्यापक स्तर पर उगने वाले फूल पर अध्ययन कर लोगों को इस विषय पर शिक्षित किया जा सकेगा. वर्तमान में सीआरआइएसपीआर/सीएएस9 टेक्नोलॉजी 100 फीसद सफल नहीं है और न ही यह सभी पौधों पर काम करती है. इस अध्ययन में वैज्ञानिकों को इस टेक्नोलॉजी में 75 फीसद सफलता मिली है, जो अपेक्षाकृत एक परिणाम है.

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com