नई दिल्ली। भारत के लिए बेहद चिंता का विषय है क्योंकि राजधानी दिल्ली एक बार फिर से दुनिया की सबसे प्रदूषित राजधानी में दूसरे नंबर पर है. हाल ही में आई स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर के हेल्थ इफेक्ट्स इंस्टीट्यूट (HEI) की ताजा रिपोर्ट में यह बात सामने आई राजधानी दिल्ली PM2.5 के मामले में दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर है.
वहीँ दूसरी ओर कोलकाता इस सूची में चौथे स्थान पर है। इसके अलावा 2010 से 2019 के बीच PM2.5 के स्तर में सबसे अधिक वृद्धि दर्ज करने वाले शीर्ष 20 शहरों में 18 भारत के रहे। बाकी दो शहर इंडोनेशिया के हैं।

दुनिया भर के तमाम देशों में WHO के मानक से ज्यादा है वायु प्रदूषण

एयर पॉल्युशन एंड हेल्थ इन सिटीज नामक अपनी रिपोर्ट में HEI ने बताया कि दुनियाभर के ज्यादातर शहरों में वायु प्रदूषण का स्तर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के तय मानक से कई गुना अधिक है। WHO के अनुसार, प्रति क्यूबिक मीटर में पांच माइक्रोग्राम PM2.5 प्रदूषक होना चाहिए, जबकि सबसे अधिक प्रदूषक शहर दिल्ली में 2019 में इसकी मात्रा 22 गुना अधिक 110 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक थी। इसी तरह कोलकाता में PM2.5 का स्तर 84 माइक्रोग्राम था।

Also Read: Ananya Panday ने स्काई ब्लू बॉडीकॉन ड्रेस पहन दिए कातिलाना पोज़, देखें Killer लुक 

प्रदुषण के कारण सबसे ज्यादा मौतें चीन की राजधानी बीजिंग में

आपको बता दें प्रदुषण के कारण मौत की बात करें तो चीन की राजधानी दिल्ली इसमें पहले स्थान पर रही। यहां इसके कारण प्रति लाख आबादी पर 124 मौतें हुईं। दिल्ली इस सूची में छठवें स्थान पर रही और यहां प्रति लाख आबादी पर 106 मौतें हुईं। प्रति लाख आबादी पर 99 मौतों के साथ कोलकाता आठवें स्थान पर रहा। कुल मौतों की बात करें तो बीजिंग में 2019 में 26,270 मौतें हुईं, वहीं दिल्ली में 29,900 और कोलकाता में 21,380 मौतें हुईं।

रिपोर्ट में यह भी पाया गया कि 2010 से 2019 के बीच जिन 50 शहरों में PM2.5 के स्तर में सबसे अधिक वृद्धि हुई, उनमें 41 शहर अकेल भारत के थे, वहीं नौ शहर इंडोनेशिया के रहे। जबकि चीन के शीर्ष स्थान पर रहने वाले शहरों की स्थिति में सुधार आया है.