‘एक एप-काम अनेक’, के जरिए घर बैठे होंगे काम, 31 अगस्त तक वोटर आईडी से जुड़ेगा आधार नम्बर

कलेक्टर आशीष सिंह ने जिले के सभी बीएलओ एवं एसडीएम को दिशा-निर्देश दिये हैं कि वे वोटर आईडी एप के बारे में अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें।

उज्जैन। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने प्रदेश के सभी संभागायुक्त एवं कलेक्टर्स की वीसी लेकरवोटर आईडी को आधार नम्बर से जोड़ने के लिये की जा रही कार्यवाही की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि आगामी 31 अगस्त तक वोटर आईडी से आधार नम्बर से जोड़ने का कार्य पूरा किया जाये। वीडियो कॉन्फ्रेंस में उज्जैन एनआईसी से संभागायुक्त संदीप यादव, कलेक्टर आशीष सिंह एवं उपायुक्त राजस्व एसएस नायर मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि जिले के सभी मतदाताओं का वोटर आईडी आधार से जोड़ा जायेगा। इस हेतु भारत निर्वाचन आयोग द्वारा 31 अगस्त तक अन्तिम तिथि तय की गई है। जिले में कार्यरत 1821 बीएलओ को प्रतिदिन 30 वोटर आईडी कार्ड आधार से जोड़ने के निर्देश दिये गये हैं। गरूड़ा एप के माध्यम से मतदाताओं के आधार नम्बर वोटर आईडी से जोड़ा जा रहा है। साथ ही व्यक्ति स्वयं वोटर हेल्पलाइन एप डाउनलोड कर वोटर लिस्ट से सम्बन्धित सभी कार्य को कर सकता है।

‘एक एप-काम अनेक’, वोटर हेल्पलाइन से वोटर लिस्ट में नाम जोड़ना, आधार लिंक करना और पते में परिवर्तन करना जैसे कई काम हो सकेंगे घर बैठे

भारत निर्वाचन आयोग की ओर से मतदाताओं को घर बैठे सुविधा देने के लिये वोटर हेल्पलाइन एप जारी किया गया है। इस एप को गूगल प्लेस्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। वोटर हेल्पलाइन एप का ऑपरेशन एकदम आसान है। एक अकेले एप से नये वोटर का रजिस्ट्रेशन, वोटर लिस्ट से नाम हटाने का डिलेशन फार्म-7, वोटर आईडी में करेक्शन के लिये फार्म-8 और इलेक्टोरल ऑथेंटिकेशन फार्म-6बी के जरिये किया जा सकता है। ऑनलाइन फार्म सबमिट होने के बाद निर्वाचन आयोग से घर बैठे डाक से प्रापत किया जा सकेगा।

Must Read- आपके आधार कार्ड पर कितने सिम कार्ड है एक्टिव? जानने के लिए फॉलो करें ये प्रोसेस

कलेक्टर आशीष सिंह ने जिले के सभी बीएलओ एवं एसडीएम को दिशा-निर्देश दिये हैं कि वे वोटर आईडी एप के बारे में अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार करें। वोटर लिस्ट से जुड़े कामों के अलावा इस एप के जरिये निर्वाचन के दौरान परिणामों व केंडिडेट के बारे में भी जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। इस एप को डाउनलोड करने के लिये गूगल प्लेस्टोर पर जाकर ‘Voter Helpline’ टाईप करना होगा और डाउनलोड के ऑप्शन पर क्लिक करके एप को डाउनलोड किया जा सकता है।

वोटर आईडी को आधार से लिंक करने में लापरवाही बीएलओ को पड़ी महंगी, कलेक्टर ने किया निलंबित

कलेक्टर आशीष सिंह ने उज्जैन नगर पालिक निगम झोन में कार्यरत बीएलओ महेश मकवाना को वोटर आईडी को आधार से लिंक करने में लापरवाही बरतने के कारण तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया है। उल्लेखनीय है कि जिले के सभी बीएलओ को प्रतिदिन 30 वोटर्स के वोटर आईडी कार्ड को आधार से जोड़ने के निर्देश दिये गये हैं, किन्तु उक्त बीएलओ द्वारा इस कार्य में लापरवाही बरती जा रही थी। निलम्बन की अवधि में मकवाना का मुख्यालय तहसील निर्वाचन कार्यालय उज्जैन नियत किया गया है। उक्त बीएलओ का निलम्बन मप्र सिविल सेवा वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील नियम-1966 के नियम-9 एवं लोकप्रतिनिधित्व अधिनियम-1950 की धारा-32 के तहत किया गया है।