दुनिया में बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच भारत भी गभ्भीर नजर आ रहा है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया बैठक कर चुके है। जिसके बाद गाइडलाइन और दिशा-निर्देश भी दिए गए है। इसी बीच कई इस मामले के जानकार अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर चुके है। वही कुछ डॉक्टरों ने कोरोना के सब वेरिएंट ओमिक्रोन के वेरिएंट BF-7 से कैसे बचा जाए जानकारी दी है।

जानिए क्या बोले एक्सपर्ट्स

मीडिया चैनलो को शुक्रवार को फोर्टिस अस्पताल के चाइल्ड स्पेशलिस्ट कार्डियोलॉजिस्ट डाक्टर आशुतोष सिन्हा ने बताया कि, बच्चों को ध्यान में रखते कहा कि वो पहली, दूसरी और तीसरी लहर के दौरान ज्यादा संक्रमित नहीं हुए। बच्चों में कोरोना केस हुए लेकिन वो जल्द ही ठीक हो गए। ऐसी ही उम्मीद अभी है। इसका ध्यान रखना होगा।

वहीं, फोर्टिस अस्पताल के चेस्ट स्पेशलिस्ट डॉ. राहुल शर्मा ने कहा कि नई साल की पार्टी में कोविड के नियमों का पालन करना मुश्किल है। नेजल वैक्सीन आ गई तो इससे कोरोना बढ़ने की कम उम्मीद है। मुझे उम्मीद है कि जल्द ही लोगों को यह वैक्सीन मिलने लगेगी। वहीं फेलिक्स अस्पताल के डॉ. डीके गुप्ता ने नेजल वैक्सीन को लेकर कहा कि सरकार ने वैक्सीन को मंजूरी तो दे दी है, लेकिन बाजार में अभी यह उपलब्ध नहीं है। एक हफ्ते में टीका आने की पूरी उम्मीद है।

Also Read : उज्बेकिस्तान में 18 बच्चों को मौत के बाद भारतीय कंपनी के खिलाफ उठाया बड़ा कदम, फार्मा एक्सपोर्ट काउंसिल ने दी ये प्रतिक्रिया

चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. रश्मि गुप्ता ने नए साल में होने वाली पार्टियों को लेकर हो रही तैयारियों के बीच कहा कि पार्टी में हमने पहले भी मास्क पहना और इसे अब भी अपनाना चाहिए है। ऐसे ही करके नए साल को हम लोग अच्छा बना पाएंगे।

कोरोना के खिलाफ तैयारी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट कर बताया कि चीन, जापान, हॉन्गकॉन्ग, दक्षिण कोरिया, सिंगापुर और थाईलैंड से आने वाले यात्रियों के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट (RT-PCR) टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। यह रिपोर्ट भारत आने से पहले लोगों को एयर सुविधा पोर्टल पर अपलोड करनी होगी। साथ ही यह रिपोर्ट 72 घंटे पहले की होनी चाहिए है।

बता दें कि देश में 25 दिसंबर को 196, 26 दिसंबर को 157, 27 दिसंबर को 188, 28 दिसंबर को 288 और गुरुवार(29 दिसंबर) को 243 कोविड केस आए।