जो कांग्रेसी अपने लिए नही लड़ सकते उनसे क्या उम्मीद रखे

खुद को मजबूत विपक्षी पार्टी बताने वाली कांग्रेस के इंदौरी नेता जनता की लड़ाई लड़ने की बात करते हैं जनता के सुख-दुख में खड़े रहने के लिए खुद को सबसे आगे बताने की कोशिश करते हैं।

नितेश पाल

खुद को मजबूत विपक्षी पार्टी बताने वाली कांग्रेस के इंदौरी नेता जनता की लड़ाई लड़ने की बात करते हैं जनता के सुख-दुख में खड़े रहने के लिए खुद को सबसे आगे बताने की कोशिश करते हैं। कांग्रेसी कहते हैं कि हम जनता का राज स्थापित करेंगे पूरे प्रदेश में अफसरों की दादागिरी चल रही है हम उसके खिलाफ संघर्ष करेंगे लेकिन मंगलवार को इंदौर में कांग्रेस की सच्चाई भी जनता ने देख ली।

Read More : MP Weather Update : बनने लगा मानसून का सिस्टम, जल्द इन इलाकों में हो सकती है बारिश, इंदौर में गर्मी से मिलेगी राहत

कांग्रेस के नेताओं को आज रात धृतराष्ट्र कहना गलत नहीं होगा जिस तरह धृतराष्ट्र अपने और अपने बेटे के लिए अपनी ही बातों से वह मुंह पर कुछ और दिल में कुछ और रखता था उसने अपने फायदे के लिए लाखों लोगों को कुर्बान कर दिया था वैसे ही आज कांग्रेसी दिखे। खुद के आयोजन की अनुमति नहीं मिलने पर सीएम का घेराव करने की घोषणा कांग्रेसियों ने की थी लेकिन कांग्रेसी अपनी घोषणा पर 12 घंटे भी नहीं टिक पाए सोमवार रात को जो घोषणा की थी मंगलवार सुबह होते होते उसकी हवा निकल गई।

Read More : MP Election 2022 : अब नगरीय निकाय और पंचायत चुनावों की होगी वीडियोग्राफी, मिले निर्देश

सुबह नई घोषणा हुई की अब बाणगंगा थाने पर चुपचाप जाकर ज्ञापन सौंप देंगे यह लोग जब अपने राजनीतिक हित और सम्मान के लिए नहीं लड़ सकते तो इनसे जनता के लिए लड़ने की उम्मीद बेमानी ही होगी अफसरों के सामने डट के खड़े रहने की बात करने वाले यह नेता कितने बड़े डरपोक हैं यह जनता ने आज देख लिया। धृतराष्ट्र का सम्मान करना जनता जानती है इनका भी सम्मान जनता ही करेगी। जिस तरह धृतराष्ट्र ने हस्तिनापुर को खत्म किया था यह भी अपनी पार्टी को खत्म कर ही रहे हैं लेकिन इनके कारण एक मजबूत विपक्ष जो लोकतंत्र के सबसे ज्यादा जरूरी है वह नहीं मिल पा रहा है यह लोकतंत्र के लिए खतरा है अब जनता को ही अपने अधिकार बचाने के लिए लड़ना होगा।