मोटापा एक ऐसी बीमारी बनता जा रहा है जिनके मरीजों की संख्या में तेजी से इज़ाफा हो रहा है। बढ़ता मोटापा लोगों को बेहद परेशान करता है। मोटापा बढ़ने से कई क्रॉनिक बीमारियों का खतरा अधिक रहता है। डायबिटीज, ब्लड प्रेशर, किडनी डिजीज और थॉयराइड जैसी बीमारियों के लिए मोटापा जिम्मेदार है। मोटापा को कंट्रोल करने के लिए लोग तरह-तरह के फंडे अपनाते हैं।

मोटापा कंट्रोल करने के लिए लोग डाइटिंग करते हैं, खाने-पीने पर कंट्रोल करते हैं और तरह-तरह के देसी नुस्खें भी अपनाते हैं फिर भी लोगों का मोटापा कंट्रोल नहीं रहता। आप भी बढ़ते मोटापा से परेशान हैं और सारे फंडे अपनाकर थक गए हैं तो सिर्फ डाइट में कुछ बदलाव करना शुरू कर दें। डाइट में कुछ छोटे-छोटे बदलाव आपको मोटापा से मुक्ति दिला सकते हैं। आइए जानते हैं कि डाइट में कौन से बदलाव करें कि वजन तेजी से कंट्रोल रहे।

लें बैलेंस डाइट

अगर वजन को तेजी से कंट्रोल करना चाहते हैं तो डाइट का ध्यान रखें। संतुलित डाइट का सेवन आपका वजन कंट्रोल करने में असरदार है। समय पर खाना खाएं, नाश्ता या खाना स्किप नहीं करें आपका वजन कंट्रोल रहेगा। बैलेंस डाइट से हमारा मतलब है कि सुबह के नाश्ते में प्रोटीन वाले फूड जैसे काले चने, काबुली चने,बेसन, मिक्स दाल और पनीर को शामिल करें। दोपहर और रात के खाने में आपकी थाली का एक चौथाई हिस्सा अनाज से भरा होना चाहिए। दिन के खाने में फलों को शामिल जरूर करें। आप शाम के नाश्ते में भी एक सीजनल फल का सेवन कर सकते हैं। आपकी बैलेंस डाइट वजन को कम करने में असरदार है।

अगर आप वजन को कम करना चाहते हैं तो सिंपल और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट से परहेज करें। रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट से मतलब है कि डाइट में आप मैदे की बनी रोटी, सफ़ेद चावल, सफ़ेद ब्रेड, पास्ता, नूडल्स का सेवन करने से परहेज करें। इसकी जगह आप साबूत अनाज, चोकर वाला आटा, भूरे चावल, काले चावल, मिक्स अनाज की रोटी, ज्वार, बाजरा, रागी आदि का सेवन कर सकते हैं।

डाइट में फाइबर को अधिक शामिल करें

डाइट में फाइबर से भरपूर फूड का सेवन करने से वजन कंट्रोल रहता है। फाइबर से भरपूर डाइट का सेवन करने से पेट लम्बे समय तक भरा रहता है और बॉडी को एनर्जी मिलती है। इन फूड्स को पचाना आसान है। फाइबर डाइट आंत बैक्टीरिया और मोटापे के जोखिम को भी कम करती हैं। फाइबर से भरपूर फूड्स में आप सलाद , साबूत अनाज, अलसी के बीज, इसबगोल, हरी पत्तेदार सब्जियां, रेशेदार फलों को शामिल करें।