Homeधर्मVivah Panchami 2021: अगर विवाह में आ रही अड़चने, तो करें इन...

Vivah Panchami 2021: अगर विवाह में आ रही अड़चने, तो करें इन मंत्रो का जाप, मनोकामना होगी पूर्ण

Vivah Panchami 2021: शादी का क्रेज हर किसी को रहता है। ऐसे में अगर आप भी शादी करना चाहते है और आपकी शादी में रुकावटे आ रही है तो उसके कई कारण हो सकते हैं।

Vivah Panchami 2021: शादी का क्रेज हर किसी को रहता है। ऐसे में अगर आप भी शादी करना चाहते है और आपकी शादी में रुकावटे आ रही है तो उसके कई कारण हो सकते हैं। इनमें से सबसे बड़ा कारण होता है कुंडली के ग्रहों का। कहा जाता है कि जीवन में विवाह के योग बनते हैं लेकिन ग्रहों की वजह से वो टलते ही जाते हैं। वहीं दूसरा कारण योग बनने में भी समय लगता है।

Razwada beautiful ram ji with wife sita ji poster vinyl Large Large Lord  Rama / Ram / Sita-Ram Poster Sticker self adhessive Price in India - Buy  Razwada beautiful ram ji with

वहीं आज विवाह पंचमी है। इस दिन भगवान राम और माता सीता का विवाह हुआ था। हर साल मार्गशीर्ष की शुक्ल पंचमी को राम मंदिर में विशेष उत्सव मनाया जाता है। इसके अलावा अयोध्या में इस दिन को बड़े ही धूमधाम में मनाया जाता है। बता दें हर साल इस दिन को भगवान राम और माता सीता की शादी की सालगिरह के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भक्त पूजा, यज्ञ और अनुष्ठान के साथ-साथ रामचरितमानस का पाठ भी करते हैं।

Also Read – Love Horoscope : जानिए आपके प्रेम और वैवाहिक जीवन के लिए कैसा रहेगा दिन

Vivah Panchami: Celebrating the divine marriage of Lord Ram and Goddess  Sita | Spirituality News | Zee News

यह दिन उन लोगों के लिए और भी खास होता है, जिनको विवाह में बाधाएं आ रही हो या फिर बिलंब हो रहा हो। उन्हें विवाह पंचमी के दिन व्रत रखना चाहिए। साथ ही पुरे विधि-विधान के साथ भगवान राम और माता सीता की पूजा अर्चना करनी चाहिए। पूजा करने के बाद भगवान से मनोकामना पूर्ण होने की विनती करें। ऐसी मान्यता है कि इससे शीघ्र विवाह के योग बनते हैं साथ ही योग्य जीवन साथी मिलता है एवं विवाह में आ रही अड़चनें दूर होती हैं।

Lord Ram And Sita S Age Difference Know The Mystery Of Ramayan - भगवान राम  और सीता की उम्र में कितने साल का था अंतर, नहीं जानते होंगे रामायण का ये  रहस्य -

वहीं इस दिन तुलसी की माला से यथाशक्ति “ॐ जानकीवल्लभाय नमः” मंत्र का जाप करें। इनमें से किसी भी एक दोहे का जाप करना और भी ज्यादा लाभकारी होगा। जप करने के बाद शीघ्र विवाह या सुखद वैवाहिक जीवन की प्रार्थना करें।

प्रमुदित मुनिन्ह भावंरीं फेरीं। नेगसहित सब रीति निवेरीं॥
राम सीय सिर सेंदुर देहीं। सोभा कहि न जाति बिधि केहीं॥1

पानिग्रहन जब कीन्ह महेसा। हियं हरषे तब सकल सुरेसा॥
बेदमन्त्र मुनिबर उच्च रहीं। जय जय जय संकर सुर करहीं॥2

सुनु सिय सत्य असीस हमारी। पूजिहि मन कामना तुम्हारी॥
नारद बचन सदा सुचि साचा। सो बरु मिलिहि जाहिं मनु राचा॥३

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular