Homeदेशउत्तर प्रदेशUP ASSEMBLY ELECTION: भाजपा के पास, भूपेश बघेल के इन आरोपों का...

UP ASSEMBLY ELECTION: भाजपा के पास, भूपेश बघेल के इन आरोपों का कोई तोड़ नहीं

उत्तरप्रदेश में चुनावों के चलते छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, बस्ती जिले की भानपुर तहसील के रुधौली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस द्वारा आयोजित किसान सम्मेलन में शामिल हुए।

उत्तरप्रदेश में चुनावों(UP ASSEMBLY ELECTION) के चलते छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल(Chhattisgarh Chief Minister Bhupesh Baghel), बस्ती जिले की भानपुर तहसील के रुधौली विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस द्वारा आयोजित किसान सम्मेलन में शामिल हुए। वहां उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए भाजपा पर कई गंभीर आरोप लगाए।

भूपेश बघेल ने कहा कि भाजपा अगर चुनाव हार जाती हैं तो, पेट्रोल डीजल के दामों में कमी कर देती है। इसलिए आप उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराएं,और पेट्रोल डीजल की कीमतों में ओर कमी आ जायेगी।

बघेल ने किसानों से कहा कि UPA सरकार के दौरान जब 60 रूपये में डीजल तथा 400 रूपये में गैस सिलेंडर मिल रहा था, तो भाजपा तथा स्मृति ईरानी संसद से सड़क तक विरोध प्रदर्शन कर रहे थे जबकि आज इनकी ही सरकार में डीजल-पेट्रोल शतक पार कर गया है, फिर भी एक शब्द नहीं बोल रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि पूरे उत्तरप्रदेश में खाद की भारी कमी है। जबकि हमने छत्तीसगढ में किसानों को खाद, बिजली और कृषि उपकरणों पर सब्सिडी उपलब्ध कराई है। और हमने अपने प्रदेश में किसानों के लिए एमएसपी दर दूसरे राज्यों की तुलना में अधिक रखी हुई है। बघेल ने किसानों को कर्जमाफी के बारे में बताते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में मेरी सरकार आते ही, हजारों किसानों का कर्जा माफ कर दिया गया। और हमने जैसा कहा था, 2500 रूपये प्रति क्विंटल में धान/गेहूं किसानों से खरीदा भी हैं।

इसके बाद भूपेश बघेल ने काशी विश्वनाथ कॉरिडोर पर भी भाजपा को घेरते हुए कहा कि ये सरकार एक मंदिर को शॉपिंग काम्प्लेक्स में तब्दील कर रहीं हैं। उन्होंने पत्रकारों से बात करते हुए आगे कहा कि देश में गुजरात मॉडल पूरी तरह असफल हो चुका है। क्योकि गुजरात मॉडल में बेरोजगारी व गरीबी बढ़ी है, और साथ ही महंगाई भी आसमान छू रहीं है। लोगों की आय कम हुई है। इसलिए अब छत्तीसगढ़ मॉडल की बात हर तरफ हो रही है। उन्होंने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार से किसान, युवा, व्यापारी, छात्र, महिलाएं सभी परेशान हैं। और योगी आदित्यनाथ के पास प्रदेश के विकास के लिए कोई निजी सोच भी नहीं है।

RELATED ARTICLES

Stay Connected

9,992FansLike
10,230FollowersFollow
70,000SubscribersSubscribe

Most Popular