Ujjain News: संतोषप्रद जवाब नहीं दिया तो खत्म कर देंगे सहायक प्रशासक की सेवा

उज्जैन: उज्जैन के महाकाल मंदिर में सहायक प्रशासनिक अधिकारी आरपी गेहलोत द्वारा, 40 दर्शनार्थियों को नियम विरूद्ध दर्शन कराने के मामले को मंदिर प्रशासक ने गंभीरता से लिया है।

उज्जैन: उज्जैन के महाकाल मंदिर में सहायक प्रशासनिक अधिकारी आरपी गेहलोत द्वारा, 40 दर्शनार्थियों को नियम विरूद्ध दर्शन कराने के मामले को मंदिर प्रशासक ने गंभीरता से लिया है। प्रशासक गणेश कुमार धाकड़ ने गेहलोत को नोटिस देकर 24 घंटे के भीतर जवाब देने के लिए कहा है।

नोटिस में यह भी कहा गया है कि यदि संतोषजनक जवाब नहीं दिया गया तो उनकी सेवाएं समाप्त कर दी जाएगी। बता दें कि दो दिन पहले गेहलोत ने 40 सामान्य दर्शनार्थियों को शीघ्र व प्रोटोकाल दर्शन के लिए आरक्षित बेरिकेट्स में उल्टी तरफ से दर्शन करा दिए थे। बताया गया है कि वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी ने उन्हें रोकने का भी प्रयास किया था। इसके अलावा श्रद्धालुओं ने घटना का वीडियो भी बनाए। शिकायत मिलने के बाद प्रशासक ने सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन किया और फिर गेहलोत को नोटिस थमाया। नोटिस में यह स्पष्ट किया गय है कि जो कृत्य किया गया है वह अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है, इसलिए क्यों न आपकी सेवाएं समाप्त कर दी जाए। नोटिस में 24 घंटे मे जवाब देने के लिए समक्ष में उपस्थित होने के लिए भी कहा गया है और यदि वे ऐसा नहीं करते है तो एक पक्षीय कार्रवाई करते हुए उनकी सेवा समाप्त कर दी जाएगी।