Home more आर्टिकल नेहरू स्टेडियम में हुआ दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का आयोजन, होगा निशुल्क...

नेहरू स्टेडियम में हुआ दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का आयोजन, होगा निशुल्क परीक्षण और इलाज

इंडेक्स समूह के चैयरमेन सुरेश सिंह भदौरिया ने कहा कि इंडेक्स समूह हर वक्त प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए उनके साथ हर वक्त मौजूद रहता है। कोरोनाकाल के बाद आज भी स्वास्थ्य मेले में इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के सभी डॅाक्टर्स की टीम मरीजों को इलाज के साथ जागरूक भी कर रही है।

इंदौर। आजादी के अमृत महोत्सव के उत्सव के अंतर्गत इंदौर में जिला स्तरीय दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का आयोजन 19 एवं 20 मई को नेहरू स्टेडियम में किया जा रहा है। इस मेले में इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के साथ विभिन्न अस्पतालो ने स्वास्थ्य सेवा के लिए विभिन्न शिविर लगाए है। दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का आयोजन कलेक्टर मनीष सिंह,क्षेत्र क्रं 5 विधायक महेंद्र हार्डिया, सीएचएमओ. डॅा. बी.एस.सैत्या,इंडेक्स समूह के चैयरमेन सुरेश सिंह भदौरिया, एडिशनल डायरेक्टर आर सी यादव, मेडिकल सुप्रिडेंटेंड लेफ्टिनेंट कर्नल डॉ.अजयसिंह ठाकुर, आईआईडीएस अस्सिटेंट डीन डॉ.दीप्ति सिंह हाड़ा और एमजीएम मेडिकल कॅालेज के डीन डॅा.संजय दीक्षित उपस्थित थे। स्वास्थ्य मेला सुबह 10 बजे से अपरान्ह 04 बजे तक रहेगा। स्वास्थ्य मेले का उद्देश्य हितग्राहियों की एक ही स्थान पर जांच, निदान, सेवा एवं दवाओं की उपलब्धता के साथ-साथ बेहतर परामर्श भी देना है। स्वास्थ्य मेले के आयोजन में इंडेक्स समूह के साथ निजी लैब एवं निजी मेडिकल कॉलेज भी सहयोग कर रहे है।

 

Must Read- खिलौना एकत्रित करने के लिये हाथ ठेला लेकर निकलेंगे मामाजी, बेहद शर्मनाक – नरेंन्द्र सलूजा

आयुष्मान योजना से हर जरूरतमंद को मिल रहा इलाज

स्वास्थ्य मेले में कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए जिला स्तर पर इस तरह के स्वास्थ्य मेले हर समय आयोजित किए जाने चाहिए। इससे आयुष्मान योजना के तहत जरूरतमंद लोगों को बेहतर इलाज के साथ बीमारियों के प्रति जागरूक भी किया जा सकता है। इसमें इंडेक्स कॅालेज के साथ प्राइवेट मेडिकल यूनिवर्सिटी भी स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में सबसे बड़ी मददगार साबित हो सकती है। कलेक्टर मनीष सिंह ने इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के सभी शिविर पर पहुंचकर मरीजों से मुलाकात भी की। एक बच्चे के अभिभावकों से उसकी बीमारी और घर का पता और गांव भी पूछा। इसके बाद कलेक्टर सिंह ने अभिभावकों से कहा कि इंडेक्स मेडिकल हॅास्पिटल आपके घर के पास ही और आप वहां भी जाकर आयुष्मान कार्ड योजना में इलाज कर सकते है। एक बुजुर्ग व्यक्ति को जब कलेक्टर मनीष सिंह ने काउंटर ढूंढते हुए देखा तो उन्हें सही काउंटर तक लेने जाने के लिए अधिकारियों को कहा।

इंडेक्स समूह की पूरी टीम मरीजों को इलाज के साथ दे रही परामर्श

इंडेक्स समूह के चैयरमेन सुरेश सिंह भदौरिया ने कहा कि इंडेक्स समूह हर वक्त प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ जिले में स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए उनके साथ हर वक्त मौजूद रहता है। कोरोनाकाल के बाद आज भी स्वास्थ्य मेले में इंडेक्स मेडिकल कॅालेज के सभी डॅाक्टर्स की टीम मरीजों को इलाज के साथ जागरूक भी कर रही है। इस तरह के स्वास्थ्य मेले में जरूरतमंद लोगों का जहां आयुष्मान कार्ड और डिजिलट हेल्थ कार्ड भी आसानी से बन रहा है। विधायक महेंद्र हार्डिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सबसे महत्वकांक्षी योजनाओं में से एक आयुष्मान योजना है। इसमें हर जरूरतमंद को समय पर इलाज मिलने के साथ 5 लाख रुपए तक आर्थिक मदद भी मिल रहे है। इन स्वास्थ्य मेलों में सभी आसानी से डिजिटल हेल्थ कार्ड भी बना सकते है।

डिजिटल हेल्थ कार्ड में मरीज का पूरा रिकॅार्ड

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एस. सैत्या द्वारा बताया गया है कि जिला स्तरीय मेले में विकासखंड स्तरीय मेले से रेफरल किए गए मरीजों को विशेषज्ञ स्तर का उपचार भी उपलब्ध कराया जाएगा। जिले के अंतर्गत आने वाली जनसंख्या का ‘आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन में डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड (पहचान पत्र) बनाया जा रहा है। आयुष्मान कार्ड के साथ-साथ सभी तरह के रोगों की रोकथाम के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। इंडेक्स कॅालेज के सभी विभागों के डॅाक्टर्स और स्टॅाफ द्वारा बीमारी की प्रारंभिक स्तर पर स्क्रीनिंग एवं इलाज के साथ बुनियादी जांच, दवाइयों के साथ विषय विशेषज्ञों की सेवाएं भी उपलब्ध रहेगी।स्वास्थ्य मेले में विभिन्न स्टॉल भी लगाए जाएगें, जिसमें आरबीएसके, गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण (हाई रिस्क), परिवार कल्याण परामर्श, टीकाकरण, एनसीडीटीबी, नेत्र परीक्षण डेंटल चैकअप, मेडिसिन, स्त्री रोग, नाक-कान-गला, रक्त की जांच, कुष्ठ, टीबी रोगों की स्क्रीनिंग काउंटर लगाए जाएंगे, औषधि वितरण काउंटर तथा मानसिक स्वास्थ्य परीक्षण काउंटर भी बनाए जाएंगे।