नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच खींचतान चरम पर है। जिसके चलते गृह मंत्री अमित शाह के हमले पर टीएमसी ने पलटवार किया है। वही, टीएमसी सांसद कल्याण बनर्जी ने कहा कि बंगाल के राजनीतिक इतिहास के बारे में अमित शाह को कुछ पता नहीं है। ममता बनर्जी ने कांग्रेस से निकाले जाने के बाद नई पार्टी बनाई थी, कांग्रेस नहीं छोड़ी थी।

साथ हो कल्याण बनर्जी ने पत्रकारों से कहा कि, अमित शाह पश्चिम बंगाल की राजनीति की वास्तविकता को नहीं समझते हैं। ममता बनर्जी तीसरी बार सत्ता में आएंगी। लोगों में उसके प्रति अविश्वास है। उन्होंने आगे कहा कि, बंगाल में सबसे भ्रष्ट पार्टी की जनसभा खत्म हो गई है। हमने देखा कि अमित शाह की भाषण के दौरान आधा मैदान खाली था। लोगों को पता है कि वो केवल झूठ ही बोलते हैं।

उन्होंने कहा कि, अमित शाह जब वंशवाद की बात करते हैं तो वो अधिकारी परिवार को भूल जाते हैं, आखिर कैसे आपके बेटे को बीसीसीआई में एंट्री मिली। किसानों के घर में सिर्फ खाना खाने से कोई किसान का नहीं हो जाता है। भाजपा दंगाइयों की पार्टी है। उन्होंने कहा कि, मैं साफ कर दूं कि ममता के परिवार का कोई भी सदस्य सीएम नहीं बनेगा। ये पश्चिम बंगाल की जनता है जो सीएम को चुनती है।

साथ ही उन्होंने शुभेंदु अधिकारी पर वार करते हुए कहा कि, अगर वो इतने ही बड़े नेता हैं तो वो 1996, 2001, 2004 का चुनाव क्यों हारे थे। अधिकारी परिवार की क्या साख है। शुभेंदु अधिकारी आज शाह के चरणों में गिर गए। पिछले एक दशक से वो ऐसा ही ममता बनर्जी के लिए कर रहे थे।

आपको बता दें कि, शनिवार को मिदनापुर में रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला था। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि, ममता बनर्जी कहती हैं कि बीजेपी दूसरी पार्टियों से लोगों को लेती है। मैं ममता बनर्जी को उन दिनों की याद दिलाना चाहता हूं, जब वो कांग्रेस में थीं। उन्होंने कांग्रेस छोड़कर तृणमूल कांग्रेस बनाई तो वो दलबदल नहीं था क्या।