कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस का खतरा हर दिन बढ़ता जा रहा है. देशभर के कई राज्यों में इसके नए मामलों में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. वहीं अब राजस्थान में ब्लैक फंगस को महामारी घोषित कर दिया है. आज यानी बुधवार को गहलोत सरकार ने इसका एलान करते हुए कहा कि ब्लैक फंगस खतरनाक रूप लेते जा रहा है इसलिए इसपर अधिक ध्यान देने की आवश्यकता है.

वहीं दूसरी ओर हाल ही में दिल्ली में ब्लैक फंगस का पहला मामला दर्ज किया गया है. इस बीमारी की वजह से एक व्यक्ति की जान चली गई है. दिल्ली के मशहूर मूलचंद अस्पताल में 16 मई को ये मामला आया.

बता दें कि, इसकी जानकारी मूलचंद अस्पताल के डॉ. भगवान मंत्री ने इस बारे में पूरी जानकारी दी है. डॉ. भगवान के ने बताया कि, “मेरठ का रहने वाला 37 साल का एक व्यक्ति जो कोरोना पॉजिटिव था, उसमें ब्लैक फंगस के लक्षण पाए गए थे. कोरोना पॉजिटिव होने के बाद उसका इलाज घर में चल रहा था, उसे हाई ब्लड शुगर था.”

डॉक्टर ने बताया कि, “जब 16 मई को मरीज को मूलचंद अस्पताल में लाया गया, तो उसकी आंखों में सूजन थी और चेहरा भी सूजा हुआ था. मरीज की आंखें लाल थी, साथ ही उसकी नाक में से भी खून बहने की शिकायत थी. जब सभी टेस्ट किए गए, तो ब्लैक फंगस की बात सामने आई और उसके बाद सर्जरी को प्लान किया गया. सर्जरी और अन्य कोशिशों के बाद मरीज को कार्डिएक अरेस्ट हुआ और उसे बचाया नहीं जा सका.”