ताजा जानकारी के अनुसार खरगोन में आज बुधवार सुबह लगभग 5: 30 बजे पेट्रोल-डीजल से भरा एक टैंकर अनियंत्रित होकर पलट गया। जिसे देखने के लिए स्थानीय ग्रामवासियों की भीड़ जमा हो गई। इसी दौरान टैंकर में भयानक विस्फोट हो गया और देखते ही देखते उसने वहां मौजूद भीड़ को अपने कब्जे में ले लिया। टैंकर पलटने के करीब दो घंटे बाद यह विस्फोट हुआ। इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना में एक स्थानीय युवती जलकर ख़ाक हो गई जिससे उसके शरीर का केवल हड्डी का ढांचा ही शेष रह गया, जबकि वहां उपस्थित 22 अन्य लोग बुरी तरह से घायल हो गए, जिनमें से 7 कम उम्र के बच्चे बताए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार यह हादसा बिस्टान थाना क्षेत्र के मोगरगांव-गढ़ी मार्ग पर स्थित ग्राम अंजनगांव में हुआ।

Also Read-T20 World Cup 2022: टीम इंडिया को कड़े ट्रेनिंग सेशन के बाद मिला ठंडा सेंडविच, खीरा और टमाटर, मैनेजमेंट ने ICC को की शिकायत

ड्राइवर और क्लीनर फरार

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना के तुरंत बाद से ही टैंकर के ड्राइवर और क्लीनर मोके से फरार हो गए। जानकारी के अनुसार उक्त टैंकर BPCL का था जोकि झिरनिया जा रहा था। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। फायर ब्रिगेड से आग पर काबू पाया गया। पुलिस ने घायलों को 108 एंबुलेंस से जिला अस्पताल पहुंचाया। घायलों में 8 लोग गंभीर हैं, जिन्हें इंदौर रेफर किया गया है।घटना का पता चलते ही कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम और एसपी धर्मवीर सिंह यादव जिला अस्पताल पहुंचे। कलेक्टर ने कहा कि गंभीर लोगों को उपचार के लिए इंदौर रेफर किया गया है। घटना को लेकर BPCL के अधिकारियों को सूचना दे दी गई है। उनकी टीम खंडवा से रवाना हो चुकी है। वे पूरे मामले की जांच करेंगे।

Also Read-Shivpuri के DEO ने शिक्षिका से कहा ‘मेरी प्यारी चंदा, तू मुझे बहुत अच्छी लगती है’, ऑडिओ वायरल होने के बाद किया निलंबित, दर्ज हो सकता है पुलिस केस

शॉर्ट सर्किट से ब्लास्ट हुआ

​​​​​​​अंजनगांव के सरपंच डॉ. उमराव ने जानकारी देते हुए बताया कि जब लोग टैंकर को देखने पहुंचे थे, इसी दौरान शॉर्ट सर्किट के कारण तेज ब्लास्ट हुआ। यहां मौजूद 20 साल की रंगूबाई पिता गोरेलाल की मौत हो गई, जबकि राहुल पिता कन्हैया (19), नत्थू पिता नानसिंह (15), संजय पिता शोभाराम (10), राहुल पिता गोरेलाल (14), बादल पिता भावसिंह (12), सितरन पिता प्रकाश (10), लक्ष्मी पता गोरेलाल (15), सपना पिता गोरेलाल (16), कला पति कालू (30), सुरमा बाई पति प्रकाश (40), मीरा बाई पति बबलू (28), मानसिंह पिता भारसिंह (20), कन्हैया पिता तेरसिंह (30), अनिल पिता नत्थू (25), हीरालाल पिता सरदार (20), मालू पिता बेरसिंह (35), रामसिंह पिता नानसिंह (32), गोरेलाल पिता रुकेडिया (45), रमेश पिता सुभान (32), जगदीश पिता गोरेलाल (23) आदि बुरी तरह से घायल हो गए ।
-खरगोन में आज बुधवार सुबह लगभग 5: 30 बजे पेट्रोल-डीजल से भरा एक टैंकर अनियंत्रित होकर पलट गया। जिसे देखने के लिए स्थानीय ग्रामवासियों की भीड़ जमा हो गई। इसी दौरान टैंकर में भयानक विस्फोट हो गया और देखते ही देखते उसने वहां मौजूद भीड़ को अपने कब्जे में ले लिया।

इंदौर के एम वाय अस्पताल में चल रहा घायलों का इलाज

गौरतलब है कि खरगोन में आज सुबह हुई दुर्घटना में कुल 22 ग्रामीण प्रभावित हुए हैं। इनमें एक की बुरी तरह से जलने से मृत्यु हुई है, जबकि 17 को इंदौर के एम वाय अस्पताल में इलाज हेतु लाया गया है एवं चार को खरगोन जिला चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। जानकारी के अनुसार संभागायुक्त डॉक्टर पवन शर्मा और पुलिस महानिरीक्षक श्री राकेश कुमार गुप्ता एम वाय के बर्न यूनिट पहुँचे और यहाँ खरगोन की दुर्घटना में प्रभावितों से हाल चाल पूछे और घटना की जानकारी ली। संभागीय आयुक्त डॉक्टर शर्मा ने घायलों की शीघ्र ही बेहतरी का विश्वास उनके परिजनों को दिलाया गया।

सीएम शिवराज भी कर रहे है लगातार मॉनिटरिंग

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भी लगातार इस हादसे के बाद से ही इस मामले की लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सीएम शिवराज ने इस हादसे पर दुख जताया है उन्होंने संभागायुक्त डॉक्टर पवन कुमार शर्मा और कलेक्टर खरगोन श्रीकुमार पुरुषोतम से दूरभाष पर पूरी जानकारी ली। और साथ ही सभी घायलों के बेहतर से बेहतर इलाज के निर्देश दिए।