Terror Attack In Jammu And Kashmir: अब आतंकियों ने शोपियां में किया हमला, प्रवासी मजदूरों पर फेंका ग्रेनेड

जम्मू कश्मीर में 2 प्रवासी मजदूर एक बार फिर आतंकियों के निशाने पर आ गए हैं. शोपियां में मजदूरों पर आतंकियों ने ग्रेनेड फेंक दिया.

Terror Attack In Jammu And Kashmir: कश्मीर में प्रवासियों पर हमले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. बीते 26 दिनों में एक के बाद एक दस टारगेट किलिंग की घटनाएं देखी गई है. बीते दिन ही 2 प्रवासी मजदूरों को निशाना बनाए जाने के बाद आज एक बार फिर दक्षिण कश्मीर के शोपियां में आतंकियों ने प्रवासी मजदूरों पर ग्रेनेड फेंक दिया है जिसमें 2 मजदूर घायल हो गए हैं.

जानकारी के मुताबिक पहले यह कहा जा रहा था कि गैस सिलेंडर में हुए ब्लास्ट के वजह से मजदूर घायल हुए हैं लेकिन अब पुलिस ने इस बात की जानकारी दे दी है. गैस सिलेंडर की वजह से नहीं बल्कि आतंकी हमले की वजह से घटना हुई है.

Must Read- Vicky Kaushal के बचपन का प्यार हैं Katrina Kaif, स्कूल में ही दे बैठे थे दिल, हुआ खुलासा

जम्मू कश्मीर पुलिस ने इस बात की जानकारी ट्वीट कर दी है और बताया है कि शोपियां के अगलर जैनापोरा क्षेत्र में एक ग्रेनेड फेंका गया, जिसकी वजह से 2 मजदूर घायल हो गए हैं. पुलिस ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी है. धमाके में 2 प्रवासी मजदूर गंभीर रूप से घायल हुए हैं ब्लास्ट होते ही मौके पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया और लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागते दिखाई दिए. सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू की तब जाकर यह पता चल पाया कि ग्रेनेड से हमला हुआ है.

पिछले 26 दिनों में लगातार दसवीं बार टारगेट किलिंग का मामला सामने आया है जिसकी वजह से आप लोगों ने पलायन करना शुरू कर दिया है. टारगेट किलिंग की घटनाओं को देखकर कश्मीरी हिंदुओं को इस बात का डर है कि कब कोई उन्हें गोली मार देगा इस बात का भरोसा नहीं है. सुरक्षा बल हर जगह लगे हुए हैं कई आतंकियों को मारा भी जा चुका है लेकिन इसके बाद भी घटनाएं लगातार जारी है.

पिछले महीने लगातार तीन ऐसी घटनाएं हुई जिससे कश्मीर में रहने वाले अल्पसंख्यक चिंता में आ गए हैं. आज आतंकियों ने कुलगाम में एक बैंक मैनेजर पर भी फायरिंग की, जिसमें मैनेजर विजय कुमार की मौत हो गई. वो राजस्थान का रहने वाला था. मोहनपोरा के देहाती बैंक में मैनेजर पद पर पदस्थ विजय पर आतंकियों ने फायरिंग कर दी, जिससे उसकी मौत हो गई. सुरक्षाबलों ने सर्च ऑपरेशन शुरू कर दिया है. विजय के पिता का कहना है ट्रांसफर के लिए बैंक पीओ की तैयारी कर रहा था ताकि ब्रांच मैनेजर बन सके लेकिन भगवान को यह सब मंजूर नहीं था.

इसके पहले 31 मई को आतंकियों ने कुलगाम में महिला टीचर रजनीबाला की गोली मारकर हत्या कर दी थी. रजनी गोपालपोरा हाई स्कूल में टीचर थी. फायरिंग के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया था.

12 मई को भी जम्मू कश्मीर के बडगाम में आतंकियों ने हमला कर राजस्व विभाग के एक अधिकारी को गोली मार दी थी. तहसील ऑफिस में घुसकर राहुल भट्ट नाम के अधिकारी का नाम पूछने के बाद आतंकियों ने घटना को अंजाम दिया था. अस्पताल में इलाज के दौरान राहुल की मौत हो गई थी.