जैन समाज द्वारा करवाई जा रही है विकलांग बच्चों की सर्जरी, 30 जून तक चलेगा शिविर

सरदार राजीव भैया प्रतिदिन बच्चों के लिए पाव भाजी से लेकर कुछ न कुछ लेकर पहुँच रहे हैं। जिससे बच्चे एवं उनके माता-पिता बहुत खुश हैं। संस्था द्वारा मेडिसिन के साथ ब्लड की भी व्यवस्था की गई है। डॉ प्रमोद पी नीमा द्वारा नि:शुल्क  सर्जरी यूनिक हास्पिटल में की जा रही है।

Jain society, Surgery of disabled children, disabled children , indore, indore news, indore hindi news,

इंदौर: चयनित विकलांग बच्चों में 3 बच्चों की सर्जरी प्रतिदिन हो रही है और अभी तक 21 बच्चों की सर्जरी हो चुकी है । हास्पिटल में विकलांग बच्चे एवं उनके एक अभिभावक की रहने, दूध, नाश्ता, लंच, डिनर के साथ रात्रि दूध की व्यवस्था संस्था द्वारा की गई है । प्रतिदिन एक-एक श्वेताम्बर जैन क्षेत्रीय महिला संघ पहल रेसकोर्स रोड, नवरत्न रतनबाग, सुखदेव नगर, वर्धमान नगर, राज मधुकर गुमाश्ता नगर, सौम्य अरिहंत जन कल्याण सेवा समिति तथा अ भा श्वेताम्बर जैन महिला संघ केन्द्रीय इकाई द्वारा सभी बच्चों के लिए फल फ़्रूट के साथ फ़्रूटी, बिस्कुट, चाकलेट, जूस, एनर्जी ड्रिंक से लेकर नाश्ता लेकर पहुँच रहे है।

Jain society, Surgery of disabled children, disabled children , indore, indore news, indore hindi news,

सरदार राजीव भैया प्रतिदिन बच्चों के लिए पाव भाजी से लेकर कुछ न कुछ लेकर पहुँच रहे हैं। जिससे बच्चे एवं उनके माता-पिता बहुत खुश हैं। संस्था द्वारा मेडिसिन के साथ ब्लड की भी व्यवस्था की गई है। डॉ प्रमोद पी नीमा द्वारा नि:शुल्क  सर्जरी यूनिक हास्पिटल में की जा रही है। हास्पिटल में नूतन व्यास,नर्स सीमा एवं तथा डॉ निलेश बडियाल द्वारा दिनरात वार्ड में देखभाल की जा रही है ।

Jain society, Surgery of disabled children, disabled children , indore, indore news, indore hindi news,

Must Read- ज्ञानवापी मस्जिद के अंदर सर्वे टीम को दिखा शिवलिंग, कोर्ट ने दिए आदेश

उपरोक्त जानकारी मुख्य मार्गदर्शक वीरेन्द्र कुमार जैन एवं मुख्य संयोजक रेखा जैन द्वारा दी गई। सौम्य अरिहंत जन कल्याण सेवा समिति की अध्यक्ष ज्ञानश्री बाफना, उपाध्यक्ष मोना शर्मा एवं सचिव करूणा शर्मा ने बताया कि सर्जरी हो चुकी बच्चों के कुशलक्षेम पूछने के लिए संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर एवं पूर्व विधायक जीतू जिराती अस्पताल में आ चुके हैं। जो बच्चे शिविर में नहीं आ पाये थे उन्हें अस्पताल में अभी भी बुलाकर जाँच कर सर्जरी के लिए चयन प्रक्रिया चल रही है। 30 जून तक विकलांग बच्चे आ सकते हैं ।

भवदीय
वीरेन्द्र कुमार जैन
मार्गदर्शक