उत्तर प्रदेश के बलिया जिले से एक बेहद ही हैरान करने वाला मामला सामने आया है जिसमें स्कूली छात्रों ने प्रिंसिपल सहित शिक्षकों कमरे में बंधक बना कर ताला लगा दिया। जब छात्रों से उनकी इस हरकत का कारण पूछा गया तो उन्होंने जो वजह बताई उसे जानकर सब हैरान रह गए।

छात्रों ने बताया कि कोरोना काल में उत्तर प्रदेश सरकार ने सरकारी स्कूलों के छात्रों को मिड डे मील के लिए पैसे दिए थे। लेकिन बलिया क्षेत्र के गवर्नमेंट स्कूल के छात्रों को मिड डे मील का पैसा नहीं मिला। पैसे मांगने के बाद स्कूल प्रशासन बच्चों की बात पर किसी भी बात की सुनवाई नहीं कर रहा था जिस कारण से उन्हें ऐसा कदम उठाना पड़ा।

Also Read : बागेश्वर सरकार के दरबार में मुस्लिम युवती बनी हिंदू, बोली- सनातन धर्म श्रेष्ठ, यहां भाई-बहन की शादी नहीं होती

बता दें यह घटना बलिया प्रमंडल के दुर्जनपुर कंपोजिट स्कूल की है। जहाँ मिड मिल का पैसा ना मिलने पर आक्रोशित छात्रों ने प्रिंसिपल समेत शिक्षकों को स्कूल के कमरे में बंद कर लिया। छात्रों का कहना है कि कोविड काल में अपेक्षित मिड डे मिल का पैसा अभी तक किसी स्टूडेंट को नहीं मिला है। हमने प्रिंसिपल और शिक्षकों से भुगतान के बारे में पूछा। हमसे कहा गया कि दो-तीन महीने बाद मिल जाएगा, लेकिन उन्हें अभी कोई पैसा नहीं मिला है। हालाँकि छात्रों की हरकत के बाद इलाके में हड़कंप मच गया जिसके बाद शिक्षा विभाग के मुखिया ने आकर छात्रों को समझाया।