Breaking News

जेट एयरवेज के उत्थान और पतन की कहानी 18 अप्रैल को ही क्यों लिखी गई | Story of Rise and Fall of ‘Jet Airways’

Posted on: 09 May 2019 16:28 by rubi panchal
जेट एयरवेज के उत्थान और पतन की कहानी 18 अप्रैल को ही क्यों लिखी गई | Story of Rise and Fall of ‘Jet Airways’

अर्जुन राठौर

कहते हैं कि अंक ज्योतिष का अपना एक अलग ही महत्व है और अंक ज्योतिष किसी के भी जीवन में खासी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और ऐसा ही हुआ है जेट एयरवेज के मालिक नरेश गोयल के साथ ।

जी हां उनके जीवन का यह एक अजीब संयोग है कि 18 अप्रैल 1993 को जेट एयरवेज को पहला विमान मिला था और मुंबई से उसकी फ्लाइट शुरू हुई थी और 18 अप्रैल 2019 को अमृतसर से मुंबई के लिए उनकी आखिरी उड़ान भरी गई यानी 18 अप्रैल 1993 को जेट एयरवेज ने अपना कार्य प्रारंभ किया और पहला विमान हासिल करने के बाद उड़ानों की शुरुआत की।

इसके बाद तो जेट एयरवेज को पंख लग गए और एक समय तो ऐसा भी आया जब जेट एयरवेज भारत की प्रमुख विमान कंपनी बन गई, लेकिन धीरे-धीरे उसका पतन होता चला गया और अब नौबत यह आई कि 18 अप्रैल 2019 को इस कंपनी के विमान ने आखिरी उड़ान भरी और वह भी अमृतसर से मुंबई के लिए।

इससे यह पता चलता है कि 18 अप्रैल का दिन नरेश गोयल के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण दिन है।  इसी दिन जेट एयरवेज के उत्थान की कहानी लिखी गई और ठीक 26 साल बाद 18 अप्रैल को ही इसके पतन की भी गाथा लिख दी गई। जिसके बारे में उमेश गोयल ने अपने शब्द इस तरह से व्यक्त किए उन्होंने कहा 5 मई का दिन हमारे लिए सबसे दुखी दिन था क्योंकि जेट एयरवेज की एक भी उड़ान सेवा में नहीं थी।

Read more : वॉच डॉग से पेट डॉग बना मीडिया… निष्पक्षता का भ्रम न पालें

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com