उत्तर प्रदेश के रामपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है। इस सीट पर समाजवादी पार्टी ने आसिम रज़ा को अपना उम्मीदवार बनाया है। आजम खान की सदस्यता रद्द होने के बाद रामपुर की सीट खाली हुई है। रामपुर में सपा की बैठक में ये फैसला लिया गया. मंगलवार को रामपुर में हुई बैठक में आजम खान और अब्दुल्लाह आजम भी शामिल हुए। बीजेपी ने इस सीट पर आकाश सक्सेना को टिकट दिया है। रामपुर सीट पर 18 नवंबर तक नामांकन होगा। 5 दिसंबर को वोटिंग होगी और 8 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी।

आजम खान के करीबी माने जाते हैं आसिम रज़ा

आसिम रज़ा ने जून 2022 में रामपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव लड़ा था लेकिन वो बीजेपी के धनश्याम लोधी से हार गए थे। अखिलेश यादव के विधानसभा में निर्वाचित होने के बाद ये सीट खाली हुई थी. आसिम रज़ा को आजम खान का करीबी बताया जाता है। लोकसभा उपचुनाव में मिली हार के बाद भी सपा ने एक बार फिर आसिम रज़ा पर भरोसा जताया है। वे शम्सी पंजाबी बिरादरी से आते हैं। वे लंबे समय में जुड़े हुए हैं और बताया जाता है कि इस बिरादरी में आसिम रज़ा की ठीक ठाक पैठ है।

Also Read : इंदौर बनेगा मोतियाबिंद मुक्त शहर, शहर के 85 वार्डों में रोज़ाना लगेंगे कैंप, निशुल्क होगी जांच

मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में डिंपल यादव हैं उम्मीदवार

मैनपुरी सीट पर होने वाले लोकसभा उपचुनाव में इस बार सपा ने डिंपल यादव को उम्मीदवार बनाया। वो नामांकन भी दाखिल कर चुकी हैं. वहीं बीजेपी ने डिंपल यादव के खिलाफ मंगलवार को पूर्व सांसद रघुराज सिंह शाक्य को अपना उम्मीदवार घोषित किया। शाक्य एक समय शिवपाल यादव के करीबी माने जाते थे लेकिन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से इस्तीफा देकर वे इस साल बीजेपी में शामिल हो गए थे। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के निधन से मैनपुरी संसदीय सीट पर चुनाव कराया जा रहा है। मैनपुरी सीट लम्बे समय से मुलायम परिवार का गढ़ मानी जाती है।