सिंधु दूसरी बार उपविजेता, एन से और विक्टर को खिताब

पी.वी.सिंधु लगातार तीसरी बार दक्षिण कोरिया की नई सनसनी 20वर्षीय एन से युंग से नहीं जीत सकी और विश्व टूर फाइनल्स-2021के फाइनल में दूसरी बार उपविजेता रही,

धर्मेश यशलहा

पी.वी.सिंधु लगातार तीसरी बार दक्षिण कोरिया की नई सनसनी 20वर्षीय एन से युंग से नहीं जीत सकी और विश्व टूर फाइनल्स-2021के फाइनल में दूसरी बार उपविजेता रही, संयुक्त तीसरे-चौथे क्रम की सिंधु तीसरी बार और एन से पहली बार फाइनल खेली, इंडोनेशिया के बाली में हुई 15,00,000 डालर इनामी इस स्पर्धा के महिला एकल फाइनल में विश्व नंबर छह एन से युंग ने विश्व नंबर सात सिंधु को 21-16,21-12से 39मिनट में हराया, दोनों ही गेमों में एन शुरु से ही और हमेशा सिंधु से आगे रही, पहले गेम में 11-7की एवं दूसरे गेम में 4-0और 7-2की बढ़त ली,एन ने बाली में ही लगातार तीसरा खिताब जीतकर ‘खिताबी तिकड़ी’पूरी की, इंडोनेशिया मास्टर्स और इंडोनेशिया खुली स्पर्धा के बाद यह खिताब पहली बार जीता.

सिंधु विश्व टूर फाइनल्स बैडमिंटन के फाइनल में 2017 में जापान की अकाने यामागुची से से हारी थी, 2018 में चीन के ग्वांगझू में सिंधु ने जापान की ही नोझोमि ओकुहारा को 21-19,21-17 से हराकर यह खिताब जीतने वाली पहली भारतीय बनने का श्रेय हासिल किया, इससे पहले 2009में ज्वाला गुट्टा और वी.डिजू मिश्रित युगल में और 2011में साइना नेहवाल महिला एकल में उपविजेता रही,26वर्षीय सिंधु इस फाइनल्स स्पर्धा का तीन बार फाइनल खेली है, इससे अधिक बार यह सफलता ताईपेई की ताई त्झी यिंग को ही मिली है जो पांच बार फाइनल खेली है.

इस साल के सर्वश्रेष्ठ पुरुष खिलाड़ी डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन ने इस साल के सबसे उभरते खिलाड़ी थाईलैंड के कुंलावुत वितिद्सर्न को पुरुष एकल फाइनल में 21-12,21-8से हराकर अपनी श्रेष्ठता कायम रखी, ओलंपिक विजेता विक्टर ने दूसरे गेम में 9-1की एकतरफा बढ़त ली, विश्व नंबर एक विक्टर ने सेमीफाइनल में एक अन्य उभरते 20वर्षीय खिलाड़ी भारत के लक्ष्य सेन को हराया था, जिन्हें 22लाख रुपए (30हजार डालर)इनामी राशि मिली.

तीनों युगल फाइनल में जापानी जोड़ी थी, लेकिन खिताब जापान को पुरुष युगल में ही मिला,विश्व नंबर छह तकुरो होकि और युगो कोबायाशी ने विश्व नंबर एक इंडोनेशिया के मार्कुस फेरनाल्डी जिदेओन और केविन संजया सुकमुमुल्जो को 21-16,13-21,21–17 से फाइनल में हराया.

दक्षिण कोरिया को दूसरा खिताब महिला युगल में मिला, विश्व नंबर चार किम सोयौंग और कोंग हीयोंग ने विश्व नंबर सात दूसरे क्रम की जापान की नामि मत्सुयामा और चिहारु शिदा को 21-14,21-14से हराया, कोरियाई जोड़ी ने इस जापानी जोड़ी से अब तक हुए तीनों मुकाबले जीते है.

विश्व नंबर दो थाईलैंड के डचपोल और सपसिरी ने मिश्रित युगल फाइनल में प्रथम क्रम प्राप्त जापान के युता वातनाबे और अरिसा हिगशिनो को 21-19,21-11से हराकर जीता, दोनों के बीच इस साल यह पांचवां मुकाबला है,अब तक के छठे मुकाबले में थाई जोड़ी की लगातार दूसरी जीत हैं, इंडोनेशिया खुली स्पर्धा का फाइनल भी इन दोनों के बीच ही हुआ था, थाईलैंड जोड़ी की भी बाली में यह खिताबी तिकड़ी है,इस साल दो विश्व टूर फाइनल्स स्पर्धा हुई है, जनवरी 2021में 2020की विश्व टूर फाइनल्स स्पर्धा भी बैंकाक (थाईलैंड)में हुई,अब 12 से 19दिसम्बर तक 26वीं विश्व बैडमिंटन स्पर्धा स्पेन के हुएल्वा में है, सिंधु को अपना खिताब बचाना है, जो वे 2019में जीती है, हुएल्वा में अभी विश्व सीनियर बैडमिंटन स्पर्धा हुई है