रीमेक फिल्मों के बादशाह बने Shahid Kapoor, ‘जर्सी’ ने छू लिया सबका दिल

फिल्म कबीर सिंह (Kabir Singh) के बाद लोग शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) की अगली फिल्म 'जर्सी' (Jersey) का इंतज़ार कर रहें थे। बड़े इंतज़ार के बाद शाहिद कपूर और मृणाल ठाकुर (Mrinal Thakur) की फिल्म 'जर्सी' रिलीज हो गई है।

फिल्म कबीर सिंह (Kabir Singh) के बाद लोग शाहिद कपूर (Shahid Kapoor) की अगली फिल्म ‘जर्सी’ (Jersey) का इंतज़ार कर रहें थे। बड़े इंतज़ार के बाद शाहिद कपूर और मृणाल ठाकुर (Mrinal Thakur) की फिल्म ‘जर्सी’ रिलीज हो गई है। ‘जर्सी’ फिल्म साउथ की ‘जर्सी’ का ही रीमेक है। दोनों ही ‘जर्सी’ को डायरेक्टर गौतम किन्नौरी (Gautam Kinnauri) ने ही डायरेक्ट किया है। क्या शाहिद कपूर की रीमेक फिल्म कबीर सिंह की तरह ही इनकी दूसरी रीमेक चल पाएगी ? क्या ये फिल्म केजीएफ 2 (KGF 2) को टक्कर दे पाएगी ? जानें ‘जर्सी’ फिल्म के रिव्यु –

Shahid Kapoor and Mrunal Thakur discuss 'exes'. Who are they talking about?  - Movies News

Also Read – Urfi Javed के पास नहीं बचे कपड़े, पहननी पड़ी पॉलीथिन 

‘जर्सी’ की कहानी

‘जर्सी’ फिल्म में एक उभरते हुए और दमदार क्रिकेटर अर्जुन तलवार की कहानी बताई गई है। उसके लिए क्रिकेट ही उसकी ज़िन्दगी रहती है लेकिन उसकी ज़िन्दगी में एक ऐसा मोड़ आता है जिस वक्त उसे क्रिकेट को छोड़कर परिवार की ज़िम्मेदारी को संभालने के लिए नौकरी करनी पड़ती है। क्रिकेट को छोड़ने की बाद भी उसकी ज़िन्दगी में कुछ अच्छा नहीं होता है और नौकरी में उसके ऊपर भ्रष्टाचार का आरोप लगा कर निकाल दिया जाता है। उसकी पत्नी का नाम विद्या तलवार रहता है और उसका एक बेटा भी है जिसका नाम करण तलवार रहता है। घर के हालत काफी बेकार हो जाते है और फिर वो वापिस भारतीय क्रिकेट टीम में जाने का फैसला करता है। इस फिल्म में और भी कई पहलू है जो फिल्म देखने के बाद ही पता चलेगा।

क्या खास है फिल्म में ?

फिल्म में सबसे खास बात शाहिद कपूर की एक्टिंग ही है। इस फिल्म की एक्टिंग उनके कबीर सिंह वाले लुक से बिलकुल अलग है। कुछ समय के लिए फिल्म में मृणाल ठाकुर विलेन लगती है जिसे बहुत अच्छे तरीके से दिखाया गया है। शाहिद के बेटे का किरदार निभाने वाले रोहित कामरा की भी काफी तारीफ की गई है। फिल्म में उसको काफी मासूम दिखाया है जो लोगों को पसंद आ सकता है। फिल्म में कोच का किरदार पकंज कपूर निभा रहें है और फिल्म में भी वे उनके पापा ही लग रहें है।

फिल्म का क्लाईमैक्स काफी शानदार है। आखरी में आपको लगेगा की फिल्म खत्म हो गई लेकिन आप उठ गए तो आपकी फिल्म आधी ही रह जाएगी। फिल्म भले रीमेक है लेकिन ऐसा लगेगा ही नहीं। फिल्म में चंडीगढ़ की खूबसूरत लोकेशन दिखाई है। फिल्म में सबसे मज़ेदार चीज़ इसका सस्पेंस है और इमोशंस भरपूर रूप से डाले गए है थोड़ी बहुत कॉमेडी भी है। फिल्म में दिखाया गया हर मैच फिल्म को रोमांचक बना रहा है। जिसे देख कर दर्शकों का मज़ा और बढ़ जाएगा।

ये कमी रह गई

सेकंड हाफ जितना मज़ेदार है फर्स्ट हाफ थोड़ा फीका है। फर्स्ट पार्ट को देखते समय आपको थोड़ा पेशंस रखना पड़ेगा। मृणाल ठाकुर और शाहिद कपूर की एक्टिंग मज़ेदार है लेकिन उनकी कैमेस्ट्री कोई खास नहीं है। अगर फिल्म का पहला पार्ट देख लिया तो बाकि की फिल्म काफी मज़ेदार है। फिल्म की कहानी बढ़िया है और शाहिद कपूर की एक्टिंग ने फिल्म में और चार चाँद लगा दिए है। लेकिन इस समय केजीएफ 2 ही बॉक्स ऑफिस पर जमी हुई हैं और रिकार्ड्स तोड़ती जा रही है। ‘जर्सी’ के सामने केजीएफ 2 पहाड़ बन कर खड़ी है। अब दखते है लोग केजीएफ 2 को देखना पसंद करेंगे या शाहिद कपूर को अपना प्यार देंगे।

Also Read – ऐसी ड्रेस में बार-बार ‘इज्जत’ बचाती नजर आई Yami Gautam, वीडियो वायरल