संजीवनी हेल्पलाइन ने मानसिक रूप पीड़ित व्यक्ति को आत्महत्या करने से बचाया

0

इंदौर: इंदैर पुलिस द्वारा संचालित “संजीवनी“ -एक कदम जीवन की ओर हेल्पलाईन द्वारा नकारात्मक विचारो से ग्रसित होकर जीवन से हताश एवं परेशान लोगो की काउंसलिंग कराई जाकर उनको नकारात्मक विचारो से उबारने हेतु हरसंभव प्रयास किये जा रहे है। क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा संजीवनी हेल्पलाईन के अंतर्गत किये जा रहे प्रयासो से कई पीडितो को मानसिक तनाव के कारण आत्महत्या जैसे गलत कदम उठाने जा रहे दौर से उबारने मे मदद मिली है।

इसी कडी मे संजीवनी हेल्पलाईन नंबर 7049108080 पर सूचना प्राप्त हुई थी कि विजय (परिवर्तित नाम) उम्र 38 साल निवासी इन्दौर है। विजय फ्लाॅवर डेकोरेशन का काम इंदौर में बचपन से कर रहा है। आवेदक ने बताया कि मुझे कुछ लोग मानसिक रूप से परेशान करते रहते है। आवेदक द्वारा बताया गया कि मैनें करीब 3 महीने पहले मोहल्ले के एक व्यक्ति के खिलाफ अवैध वसूली की रिपोर्ट थाना राजेन्द्र में करवाई थी। जिस पर से उसके परिचित द्वारा मेरे ऊपर दबाव बनाकर राजीनामा करवा लिया गया था। इसी रंजीश को लेकर हमेशा मुझे गाली गलौच कर मानसिक रूप से परेशान करता रहता है। मानसिक परेशानियों के चलते मैं बहुत परेशान रहने लगा। कल दिनांक 17.02.20 उसी व्यक्ति द्वारा रात्रि मे मेरे साथ गाली-गलौच किया गया तथा मुझे धमकाया गया। इस बात से परेशान होकर मैं आत्महत्या करने के विचार से केशरबाग फ्लाई ओवर के नीचे रेल्वे की पटरी पर जाकर खड़ा हो गया तथा ट्रेन का इंतजार कर रहा था।

सूचना मिलते ही “संजीवनी“ हेल्पलाईन पर कर्तव्य पर तैनात आर. 497 अमन दुबे द्वारा त्वरित कार्यवाही कर पीडित विजय (परिवर्तित नाम) से संपर्क किया गया। पीडित को नकारात्मक विचारों से उबारने के लिये संजीवनी टीम द्वारा आवष्यक कार्यवाही की गई। तुरंत वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया तथा साथ ही थाना प्रभारी अन्नपूर्णा को तुरंत सूचित कर उनके द्वारा उनि. तोसिफ अली, संजीवनी हेल्प लाईन प्रभारी निरीक्षक मीना कर्णावत, व्ही केयर फाॅर यू प्रभारी निरीक्षक सविता चैधरी तथा क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही कर व्यक्ति को आत्महत्या करने से बचाया गया। संजीवनी टीम के द्वारा मनोचिकित्सक विषेषज्ञो से पीडित विजय (परिवर्तित नाम) की काउंसलिंग कराई गई तथा विजय (परिवर्तित नाम) को इस प्रकार आत्महत्या करने से रोकने के साथ ही उसके मानसिक अवसाद को दूर करने के उपाय भी बताये गये जिसको अमल मे लाकर विजय (परिवर्तित नाम) अब सामान्य स्थिति मे आ गया है।

इंदौर पुलिस द्वारा जनसामान्य से यह अपील की जाती है कि ऐसे किसी भी अवसादग्रस्त व्यक्ति के संबंध मे जानकारी प्राप्त होने ( जोकि आत्महत्या जैसे विचार मन मे लाता है) पर इंदौर पुलिस द्वारा संचालित की जा रही संजीवनी हेल्पलाईन के मोबाईल नंबर 7049108080 पर सूचित करे ताकि ऐसे निराशवादी ग्रसित लोगो को विषेषज्ञो द्वारा उचित परामर्श मुहैया कराई जाकर आत्महत्या करने से रोका जा सके।

हमारा संकल्प – आपकी सुरक्षा