जॉब करने वालों के लिए जरुरी सूचना है. अगर आप भी जॉब करते हैं और अप्रूवल का इंतजार कर रहे हैं तो इस बार इंडिया में कंपनी कर्मचारियों की तनख्वाह में 10 फीसदी का एवरेज वृद्धि हो सकती है. पिछले वर्ष 2022 के मुकाबले में यह थोड़ा अधिक है. वर्ष 2022 में यह आंकड़ा 9.4 फीसदी था. चलिए जानते है इसके बारे में पूरी डिटेल।

परफॉर्मस के आधार पर सैलरी में होगा ज्यादा इजाफा

कोर्न फेरी के आधुनिक सर्वे के अनुसार, जो भी कर्मचारी ज्यादा अच्छा काम कर रहे हैं उन लोगों के लिए सैलरी में वृद्धि इससे कहीं ज्यादा होगी. कंपनियां विभिन्न प्रतिभा प्रबंधन कदमों और क्षतिपूर्ति योजनाओं के जरिए महत्वपूर्ण और मुख्य प्रतिभाओं को बनाए रखने की ओर ध्यान दे रही हैं.

Also Read – 7th Pay Commission: 18 महीने के DA और एरियर पर बड़ी अपडेट, जानें कब मिलेंगे पैसे

2020 में 6.8 फीसदी था आंकड़ा

सर्वेक्षण में तकरीबन 800,000 से ज्यादा कर्मचारियों वाले 818 संगठनों को सम्मिलित किया गया. इस सर्वेक्षण के अनुसार, 2023 में भारत में सैलरी में 9.8 फीसदी की वृद्धि का अनुमान है. महामारी से प्रभावित वर्ष 2020 में तनख्वाह में वृद्धि 6.8 फीसदी से बेहद कम थी, लेकिन मौजूदा स्थिति में वृद्धि का रुख मजबूत और बेहतर हालत को दर्शाता है.

टेक्नोलॉजी में 10 फीसदी से अधिक ग्रोथ की आशा

भारत में बढ़ती हुई डिजिटल क्षमता निर्माण पर ध्यान दिए जाने के अनुरूप, सर्वेक्षण में लाइफ साइंस और स्वास्थ्य देखभाल और हाई टेक्नोलॉजी क्षेत्रों में क्रमशः 10.2 फीसदी और 10.4 फीसदी तक की वृद्धि का अनुमान लगाया गया है.

जानें क्या है अध्यक्ष की राय

कोर्न फेरी के अध्यक्ष और क्षेत्रीय प्रबंध निदेशक नवनीत सिंह ने कहा है कि विश्वभर में मंदी और आर्थिक नरमी की चर्चा हो रही है, लेकिन भारतीय अर्थव्यवस्था के संदर्भ में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के छह फीसदी की रेट से आगे बढ़ने की उम्मीद की जा रही है. सिंह ने आगे कहा कि मुख्य प्रतिभाओं के लिए सैलरी में इजाफा 15 फीसदी से 30 फीसदी तक भी हो सकता है.

किस सेक्टर के लिए कितनी ग्रोथ की है उम्मीद

कुछ अन्य क्षेत्रों के लिए यह तनख्वाह में वृद्धि – सेवा क्षेत्र के लिए 9.8 फीसदी, वाहन के लिए 9 फीसदी, रसायन के लिए 9.6 फीसदी, उपयोगकर्ता सामान के लिए 9.8 फीसदी और खुदरा क्षेत्र में 9 फीसदी होने का अनुमान है.