भोपाल। मध्यप्रदेश (MP) के कई जिलों में अवैध भंडार के मामले बढ़ रहे है साथ ही प्रशासन भी इसके खिलाफ मोर्चा खोल कर बैठी है। एमपी प्रशासन अब लगातार इसके खिलाफ बड़ी कार्यवाही को अंजाम दे रही है। इसी कड़ी में अब तमस नदी में रेत चोरी की सूचना पर जिला प्रशासन की संयुक्त टीम ने छापामार कार्रवाई को अंजाम दिया है। सूत्रों का कहना है कि, यहां रेत चोरी की जानकारी कलेक्टर तक पहुंची थी। जिसके बाद पुलिस व खनिज विभाग की टीम ने एक साथ दबिश दी।

जिसके अंजाम में टमस नदी से रेत, जेसीबी और वोट जब्त की गई है। वहीं अब JCB को जब्त कर अतरैला थाने में खड़ा कराया गया है। जबकि रेत और वोट स्थानीय लोगों के सुपुर्द कर पंचनामा कार्रवाई की गई है। वहीं कलेक्टर के निर्देश पर देर शाम तक रेत कारोबारियों के खिलाफ अतरैला थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। मिली जानकारी के अनुसार जवा तहसील के अतरैला थाना अंतर्गत कोनी तलरी गांव में टमस नदी के घाट से रेत तस्करी की सूचना जिला प्रशासन को लगातार मिल रही थी।

ALSO READ: गणतंत्र दिवस : इंदौर में शिवराज करेंगे ध्वजारोहण

जिसके बाद अब रीवा कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी (Rewa Collector) और एसपी नवनीत भसीन ने पूरे मामले को संज्ञान में लेकर सोमवार की टीम घठित की और छापामार दल में खनिज, राजस्व व पुलिस को शामिल किया। आपको बता दें कि, सोमवार को संयुक्त दल टमस नदी के घाट तक पहुंचा। जहां रेत भंडारण में प्रयुक्त वोट और जेसीबी को बरामद किया। मौके में संग्रहित 15 ट्रॉली रेत को जब्त कर अवैध भंडार का प्रकरण पंजीबद्ध कराया है। साथ ही रेत और वोट को स्थानीय व्यक्ति की सुपुर्दगी देकर सुरक्षित करा दिया जबकि जेसीबी को अतरैला थाने में खड़ा कराया है।