RBI Repo Rate Hike: रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में की 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी, महंगे हुए लोन

Reserve Bank Of India की और से एक बार फिर Repo Rate बढ़ा दिए गए हैं. 3 दिन चली बैठक के बाद रेपो रेट में 0.50 फीसदी की बढ़ोतरी हुई.

RBI

RBI Repo Rate Hike: महंगाई कई सालों के उच्चतम स्तर पर पहुंच चुकी है. इसी को देखते हुए रिजर्व बैंक (Reserve Bank Of India) ने एक बार फिर से रेपो रेट (Repo Rate) बढ़ा दिए हैं. रेपो रेट 0.50 फीसदी बढ़कर 4.90 फीसदी हो गया है. यह लगातार दूसरी बार है जब 1 महीने में रिजर्व बैंक ने रेपो रेट में बढ़ोतरी की है.

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्ति दास ने मौद्रिक नीति समिति की बैठक लेकर रेपो रेट बढ़ाए जाने की जानकारी दी. मौद्रिक नीति समिति की बैठक इन दिनों तक चली इसके बाद समिति के 5 सदस्यों ने गवर्नर दास के नेतृत्व में महंगाई और इकोनामिक ग्रोथ की स्थिति पर विचार विमर्श कर रेपो रेट बढ़ाने का फैसला लिया.

Must Read- पूर्व CM कमलनाथ ने स्वीकार किया कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा का इस्तीफा, बढ़ी राजनीतिक सरगर्मियां

इससे पहले रिजर्व बैंक को पिछले महीने अचानक ही रेपो रेट (Repo Rate) बढ़ाने का ऐलान करना पड़ा था एक आपात बैठक बुलाई गई थी जिसके बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रेपो रेट 0.40 फ़ीसदी बढ़ाए जाने का निर्णय लिया गया था. मई में रेपो रेट बढ़ाने के साथ कैश रिजर्व रेशों भी 0.50 फ़ीसदी बढ़ाया गया था.

आंकड़ों के अनुसार देश में महंगाई लगातार बढ़ रही है 2022 में खुदरा महंगाई (Retail Inflation) की दर 7.8 फ़ीसदी देखी गई जो 2014 के बाद सबसे ज्यादा है. अप्रैल में थोक महंगाई की दर 15.08 फ़ीसदी तक पहुंच गई थी जो दिसंबर 1998 के बाद सबसे ज्यादा आंकी गई. अप्रैल में बढ़ी महंगाई की वजह फूड एंड फ्यूल इन्फ्लेशन था. महंगाई पर लगाम लगाने के लिए सरकार की ओर से पेट्रोल-डीजल पर टेक्स कम कर दिया गया है साथ ही क्रूड सोयाबीन और सनफ्लावर ऑयल पर आयात शुल्क हटाने और विमानन ईंधन की कीमत कम करने जैसे उपाय भी किए गए हैं.