राजस्थान में मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर घमासान मचा हुआ है। कुर्सी को लेकर जबरदस्त खींचातानी देखने को मिल रही है। राजस्थान ने अभी तक 80 से अधिक विधायकों ने सामुहिक इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने वाले 82 विधायकों ने स्पीकर सीपी जोशी को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है। बताया जा रहा है कि प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि 10 से 15 विधायको की सुनवाई हो रही है ओर अन्य विधायकों की उपेक्षा हो रही हैं। गांधी परिवार के वफादार अशोक गहलोत ने राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने से पहले ही परिवार को चुनोती देते हुए संकट में डाल दिया है। अशोक गहलोत समर्थक विधायक अब इस्तीफा देने का मन बना चुके है।

10:45- बताया जा रहा है कि शांति धारीवाल, प्रताप सिंह खाचरियावास स्पीकर के आवास अब अशोक गहलोत के आवास के लिए रवाना हो गए हैं।

राजस्थान में उलटफेर देखने को मिल रहा है। कांग्रेस के 92 विधायक इस्तीफा दे सकते हैं। प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा कि विधायकों की सलाह पर ध्यान दे। बताया जा रहा है कि हाईकमान ने सचिन पायलट, अशोक गहलोत, खरगे, माखन को दिल्ली बुलाया है। लेकिन मुख्यमंत्री की कुर्सी पर खींचतान तेज हो गई है। विधायकों का कहना है कि नए सीएम के चयन के लिए उनकी राय बिल्कुल नहीं ली गई और इससे वह बेहद आक्रोशित हैं। इस बीच कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने दी।

Must Read- इन जिलों में गिरेगी आकाशीय बिजली, मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर दी चेतावनी

लेकिन अब स्थिति इतनी ज्यादा बिगड़ गई है और बताया जा रहा है कि कांग्रेस महासचिव केसी वेनुगोपाल ने अशोक गहलोत को फोन करते हुए स्थिति संभालने के लिए कहा है, इस पर गहलोत ने साफ कह दिया कि अब उनके बस में कुछ भी नहीं है। आगे की स्थिति राजस्थान के लिए क्या बनती है यह देखने वाली बात है। हालांकि वर्तमान में अशोक गहलोत कांग्रेस अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले हैं और मुख्यमंत्री का पद छोड़ना होगा है। तो वहीं सचिन पायलट को सीएम बनाने की उम्मीद सबसे ज्यादा है। लेकिन कांग्रेस के लिए इस पर निर्णय लेना काफी ज्यादा मुश्किल है। गहलोत गुट के विधायक पायलट को सीएम बनाने के लिए विरोध करते हुए दिख रहे हैं।

बताया जा रहा है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने फोन पर चर्चा की। मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर चल रहे घमासान के बीच एक ओर बड़ी खबर सामने आ रही है। राजस्थान में अब सरकार बनाने को लेकर जमकर घमासान हो रहा है। लेकिन अब आलाकमान एक्शन में आ चुका है और सोनिया गांधी की तरफ से पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे को संदेश भी दिया है कि सारी रात बैठक करना पड़े लेकिन यह मामला आज ही सुलझाना होगा। कहा है कि कांग्रेस नेतृत्व का संदेश है कि खड़गे और माकम एक-एक विधायक से बात करें और साथ में प्रस्ताव पेश करें। सूत्रों के मुताबिक अजय माकन मलिकार्जुन खड़गे, सचिन पायलट, रघु शर्मा, सीएम अशोक गहलोत से मुलाकात के बाद सीएम हाउस पहुंचे। लेकिन इस्तीफा देने वाले विधायक सीपी जोशी को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे है।

खबर अपडेट की जा रही है…..