राष्ट्रपति भवन ने इन दो बड़े अखबारों पर लगाया बैन, बताया फेक

अखबारों पर प्रतिबन्ध लगाने तक की बात तो ठीक है लेकिन इसके पीछे जो तर्क दिया गया है उसे सुनकर आप भी हंसने से खुदको रोक नहीं पाएंगे। दरअसल, ये दो अखबार खर्चों की कटौती को लेकर बंद किये गए है।

0
69
NewYork times

नई दिल्ली: देश के किसी दो बड़े अखबार पर राष्ट्रपति भवन रोक लगा दे, सुनने में थोडा अजीब जरुर लगा होगा लेकिन ये सच है। अखबारों पर प्रतिबन्ध लगाने तक की बात तो ठीक है लेकिन इसके पीछे जो तर्क दिया गया है उसे सुनकर आप भी हंसने से खुदको रोक नहीं पाएंगे। दरअसल, ये दो अखबार खर्चों की कटौती को लेकर बंद किये गए है।

अखबार बंद करने वाला राष्ट्रपति भवन अमेरिका व्हाइट हाउस है और ये फैसला लिया है खुद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने। सोमवार को एक इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि ‘न्यूयॉर्क टाइम्स एक फेक अखबार है जो फेक खबरें देता है। इसके साथ-साथ हम वाशिंगटन पोस्ट को भी राष्ट्रपति भवन में सबस्क्राइब करना बंद कर देंगे।‘

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने न्यूयॉर्क टाइम्स और वॉशिंगटन पोस्ट पर व्हाइट हाउस में बैन लगा दिया है। इन दोनों अख्बारोंके अलावा बाकी सभी अखबार व्हाइट हाउस में आते रहेंगे। व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी स्टेफनी ग्रिशमी ने इस पर आधिकारिक बयान देते हुए कहा कि खर्चों में कटौती रोकने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है, जो कि वाकई में दिलचस्प है।

इस बारे में न्यूयॉर्क टाइम्स के सीओओ ने अपना रिएक्शन देते हुए कहा कि ‘हमें नहीं लगता कि वह हमारे वफादार पाठक रहे होंगे।’ हालांकि व्हाइट हाउस में अखबारों पर बैन की यह पहली घटना नहीं है, इससे पहले जॉन एफ कैनेडी ने भी कुछ अखबारों को बंद कर दिया था, लेकिन ट्रंप ने केवल व्हाइट हाउस में ही इन अखबारों को बंद नहीं किया है, बल्कि संघ एजेंसियों को भी निर्देश दिया है कि वह इन‌ दो अखबारों को मंगाना बंद कर दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here