उज्जैन : महाशिवरात्रि पर्व आगामी 18 फरवरी को आयोजित होगा। इस अवसर पर भगवान महाकालेश्वर के सुगम दर्शन श्रद्धालुओं को हो सके, इसके लिये अभी से जिला प्रशासन व महाकालेश्वर मन्दिर प्रशासन द्वारा तैयारियां करना प्रारम्भ कर दी है। कलेक्टर एवं अध्यक्ष महाकालेश्वर मन्दिर प्रबंध समिति आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक सत्येन्द्र कुमार शुक्ल द्वारा अधिकारियों के साथ आज त्रिवेणी संग्रहालय की पार्किंग से लेकर चारधाम पार्किंग, नृसिंह घाट क्षेत्र, हरसिद्धि चौराहा, महाकाल लोक का भ्रमण कर व्यवस्थाओं के लिये अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये। कलेक्टर ने लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री गणेश पटेल को चारधाम पार्किंग एवं त्रिवेणी संग्रहालय से लेकर महाकालेश्वर मन्दिर तक के लिये विभिन्न स्थानों पर लगने वाले बैरिकेट्स तैयार करने के लिये निर्देशित किया है।

Also Read : गजब! तिरुपति और शिर्डी की तर्ज पर बनेगी महाकाल की ऑटोमेटेड भोजनशाला, 1 लाख श्रद्धालु रोज करेंगे भोजन

कलेक्टर ने कहा है कि दर्शन के लिये तीन लाइन चलाई जायेगी, इस हिसाब से ही बैरिकेट की आवश्यकता का आंकलन किया जाये। भ्रमण के दौरान नगर निगम आयुक्त रोशन कुमार सिंह, एडीएम  संतोष टैगोर, महाकाल प्रशासक संदीप सोनी, स्मार्ट सिटी सीईओ आशीष पाठक, एएसपी  अभिषेक आनन्द, एसडीएम कल्याणी पाण्डे सहित पुलिस एवं प्रशासन के विभिन्न अधिकारी मौजूद थे।कलेक्टर ने त्रिवेणी संग्रहालय से चारधाम मन्दिर के बीच बन रही स्मार्ट सिटी की फोरलेन सड़क का निरीक्षण किया एवं निर्देश दिये कि उक्त सड़क का निर्माण कार्य महाशिवरात्रि के पूर्व पूर्ण कर लिया जाये। इस मार्ग का उपयोग इस बार महाशिवरात्रि पर श्रद्धालुओं के लिये किया जायेगा। कलेक्टर ने इसके बाद चारधाम पार्किंग एवं नूतन स्कूल के पीछे गौंड बस्ती वाली लाइन से नृसिंह घाट को जोड़ने वाले मार्ग का निरीक्षण किया तथा नृसिंह घाट वाले क्षेत्र की ओर कनेक्टिविटी के लिये तैयार की जा रही सड़क को भी समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिये हैं। कलेक्टर ने जूता स्टेण्ड निर्माण करने के लिये चारधाम पार्किंग के स्थान का भी निरीक्षण किया। कलेक्टर ने चारधाम पार्किंग, त्रिवेणी संग्रहालय के निकट की पार्किंग पर झिकझेक बनाने के लिये भी निर्देश दिये हैं।