इंदौर: अमेरिका से अल्प प्रवास पर भारत आई एक संभ्रांत परिवार की महिला पिंकी जैन दिनांक 9 जुलाई 2022 शनिवार की शाम 6.30 बजे रतलाम ज्वेलर्स हाई कोर्ट सामने एक ऑटो में बैठकर थाना तुकोगंज के सामने तक एक दुकान तक गई थी, इस बीच गलती से उनसे अपना Apple कंपनी का मोबाइल फोन उस ऑटो में छूट गया था जो कि, कि स्विच ऑफ़ था। ऐसी स्थिति में find my phone या live लोकेशन लेना भी संभव नहीं था। इस परेशानी के समय उक्त महिला द्वारा इंदौर पुलिस की अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय मनीषा पाठक सोनी से संपर्क कर मोबाइल छूटने के बारे में बताया।

जिस पर अति. पुलिस उपायुक्त मुख्यालय द्वारा पहले कंट्रोल रूम कण्ट्रोल में शहर में लगे CCTV कैमरों के फुटेज देखने के लिए ASI सुधीर थोटे जानकारी ली तो उन्होंने चेक करके बताया कि उक्त स्थान पर traffic के कैमरे चल रहे हैं। जिस पर तत्काल उन्होंने उप निरीक्षक रेडियो सुनील पाटीदार से संपर्क कर उसी वक़्त प्रवासी महिला को traffic management center भेजा जहाँ पर आधे घंटे से अधिक की मशक़्क़त के बाद सही ऑटो की पहचान हो सकीं और तब उसका नंबर ज्ञात हुआ

Must Read- इंदौर विकास प्राधिकरण बनेगा शहर का पहला प्लास्टिक मुक्त कार्यालय, बैठक में अधिकारियों और कर्मचारियों को दिलाई गई शपथ

इंदौर यातायात प्रबंधन पुलिस द्वारा सभी ऑटो चालकों का रजिस्ट्रेशन कर उनका डाटा संकलित कर रखा जा रहा है, जिसके आधार पर उक्त ऑटो चालक से उसके फोन पर संपर्क किया गया, जोकि उसके बेटे ने उठाया और उसने फिर पिता को सूचित किया। ऑटो चालक को उसके बेटे द्वारा जानकारी देने पर उसने तत्काल अपने ऑटो में जाकर चेक किया तो वह मोबाइल पीछे सीट के नीचे पड़ा मिला जो कि स्विच ऑफ होने से उसमें कोई आवाज भी नहीं आ पा रही थी इस कारण उसे भी पता नहीं चला। फोन मिलने पर वह ऑटो चालक तत्काल उक्त प्रवासी महिला का ऑटो में छूटा हुआ मोबाइल फोन लेकर कंट्रोल रूम पर उपस्थित हो गया, और महिला को अपना वह कीमती फोन सुरक्षित वापस मिल गया।

अपना फोन वापस मिलने पर उक्त प्रवासी महिला जैन ने कहा कि इंदौर पुलिस इतनी संवेदनशील और सक्रिय है यह देखकर इंदौर पुलिस पर और भारत देश पर गर्व हुआ। उन्होंने कहा कि USA में भी इतनी इतनी संवेदनशील एवं त्वरित कार्यवाही नहीं हो पाती, जितनी तत्परता से इंदौर पुलिस ने कार्यवाही की है। उन्होंने पुलिस कमिशनर इंदौर हरिनरायणाचारी मिश्र, डीसीपी ट्रैफ़िक महेशचंद्र जैन, एडिडिशनल डीसीपी हेड क्वार्टर मनीषा पाठक सोनी और एसआई सुनील पाटीदार, एएसआई सुधीर थोटे को धन्यवाद देते हुए इंदौर पुलिस की त्वरित कार्यवाही के लिए प्रशंसा करते हुए बहुत- बहुत आभार व्यक्त किया।