Breaking News

पार्षद से ऐसे लोकसभा के प्रत्याशी बने शंकर लालवानी | Shankar Lalwani Lok Sabha Candidate from INDORE Seat

Posted on: 21 Apr 2019 20:11 by Surbhi Bhawsar
पार्षद से ऐसे लोकसभा के प्रत्याशी बने शंकर लालवानी | Shankar Lalwani Lok Sabha Candidate from INDORE Seat

भाजपा ने इंदौर से सिंधी समाज का बड़ा चेहरा माने जाने शंकर लालवानी को प्रत्याशी बनाया है। लालवानी इस सीट से कांग्रेस के पंकज संघवी को चुनौती देंगे। शंकर लालवानी पिछले 20 सालों से राजनीति में सक्रिय है।

इंदौर में दो दशक के राजनीतिक सफर के दौरान भाजपा नेता शंकर लालवानी इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष बने। इस दौरान उन्होंने विधानसभा चुनाव में इंदौर की विधानसभा क्रमांक-4 से टिकट मांगा था, लेकिन कामयाब नहीं हो पाए थे। इसके बाद वे पार्टी संगठन से नाराज चल रहे थे। इतना ही नहीं, उन्होंने विधानसभा चुनाव के दौरान मालिनी गौड़ की नामांकन रैली और कार्यालय सहित चुनाव प्रचार से भी दूरी बनाई रखी है।

सिंधी समाज में अच्छी पकड़ रखने वाले शंकर लालवानी ने अगले साल होने वाले नगर निगम चुनाव को लेकर तैयारी शुरू कर दी थी। वह सुमित्रा महाजन को साधने को लग गए थे। जातीय समीकरण के हिसाब से बात करें तो यदि महापौर पिछड़ा वर्ग का होता है तो वे ताई के सहारे दावेदारी कर सकते हैं।

शंकर लालवानी के राजनीतिक सफर की बात करें तो वह सबसे पहले 1993 में विधानसभा नंबर चार में भाजपा के अध्यक्ष बने। 1996 में नगर निगम चुनाव हुए तो लालवानी ने जयरामपुर वार्ड से भाजपा के टिकट पर पार्षद का चुनाव लड़ा और अपने भाई व कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश लालवानी को हराकर पार्षद बने। उस समय की महापौर डॉ. उमाशशि शर्मा के कार्यकाल में लालवानी नगर निगम में सभापति जैसे महत्वपूर्ण पद पर काबिज रह चुके हैें।

लगातार तीन बार पार्षद रहने पर भी जब विधानसभा चुनाव का टिकट नहीं मिला तो पार्टी ने उनको नगर भाजपा अध्यक्ष पद का इनाम दे दिया था। इसी बीच उन्हें इंदौर विकास प्राधिकरण की जवाबदारी सौंप दी गई थी। मप्र में कांग्रेस की सरकार आने के बाद उन्हें पद से हटा दिया गया था। इसके बाद से लालवानी अगले साल होने वाले नगर निगम चुनाव में महापौर की टिकट की जुगाड़ में लग गए थे।

Latest News

Copyrights © Ghamasan.com