पिच का रोना रोया इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने, पूर्व खिलाडियों ने लगाई फटकार

0
23

बर्मिंघम: विश्व कप 2019 शुरू होने से पहले इंग्लैंड को सबसे मजबूत दावेदार माना जा रहा था। पिछले 3 साल में वनडे क्रिकेट में उनका प्रदर्शन और घरेलू मैचों में एकतरफा जीत ने सबको यह कहने पर मजबूर कर दिया था कि, इस विश्व कप में इंग्लैंड किसी के हाथ नहीं आएगा । उसे हराना नामुमकिन के करीब होगा और विश्व कप उन्हीं की झोली में जाएगा। क्रिकेट महान अनिश्चितताओं का खेल है। यह एक बार फिर साबित हो गया। इंग्लैंड की वाहवाही करने वालों का मुगालता दूर हो गया। विश्व कप के पहले हफ्ते में ही इंग्लैंड की टीम को भी आईना दिखा दिया गया । पाकिस्तान ने मैच हराया फिर । श्रीलंका के हाथों भी इंग्लैंड को करारी हार मिली।

ऑस्ट्रेलिया ने भी उन्हें आसानी से हरा दिया । इस प्रदर्शन से बौखलाए उनके बल्लेबाज अब पिच का रोना रो रहे हैं ।जॉनी बेयरस्टो का कहना है कि पिछले 3 साल से हम जिस तरह की पिचों पर खेल रहे थे , विश्व कप में उससे अलग दी गई है। हर मेजबान देश अपनी टीम की ताकत को देखते हुए पिच तैयार करता है ,लेकिन इस विश्व कप में ऐसी पीछे बनाई गई है जो इंग्लैंड की टीम के लिए पहेली बन गई है। ओवरकास्ट कंडीशन में भी तेज गेंदबाजों को मदद नहीं मिल रही है । पिच इतने धीमें हैं कि स्पिन गेंदबाज सब पर भारी पड़ रहे हैं।

एशियाई मूल के बल्लेबाजों को खूब रास आ रही हैं । इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर माइकल वान ने कहा है की जॉनी हिम्मत हार चुके हैं और नकारात्मक बातें कर रहे हैं ।उन्हें डेविड वॉर्नर से सीखना चाहिए। जो हर तरह की परिस्थिति में ढल जाते हैं ।1 साल तक विश्व क्रिकेट से दूर रहने के बावजूद 500 से ज्यादा रन बना चुके हैं। उनके सामने जो रूट का उदाहरण भी है जो लगातार टीम के लिए अच्छा कर रहे हैं ।

कोई भी खलाड़ी हो खुद की नाकामयाबी का ठीकरा या किसी और चीज पर फोड़ना ठीक नहीं है। अभी इंग्लैंड विश्व कप से बाहर नहीं हुआ है ।अगर उन्होंने आत्मविश्वास कायम रखा और उसी तरह का क्रिकेट खेला जैसा कि वह पिछले 2 साल में खेलते हैं तो वह भारत और न्यूजीलैंड को हराकर सेमीफाइनल में जगह बना सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here