पाकिस्तान को नहीं है ‘ब्लैक लिस्ट’ होने का खौफ, सेना की सुरक्षा में छुपा है हाफिज सईद

0
imran khan

नई दिल्ली। आतंकियों को पनाह देने वाला पाकिस्तान को अब खुदको फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स से बचाने के लिए हर कोशिश कर रहा है। एफएटीएफ में ब्लैक लिस्ट में आने की कगार पर है, लेकिन फिर भी पाकिस्तान आतंकवादियों का समर्थन करना बंद नहीं कर रहा।

दरअसल, कुछ दिनों पहले दुनिया को धोखा देते हुए पाकिस्तान की कोर्ट ने हाफिज सईद को पांच साल की सजा ऐलान किया था, लेकिन पाकिस्तान दुनियाभर में कहता फिर रहा है कि वह तो लापता है। जबकि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हाफिज कही और नहीं बल्कि पाकिस्तान सेना की सुरक्षा में छुपा है। गौरतलब है कि एफएटीएफ ने पाकिस्तान को ग्रे कैटेगरी में डाल रखा है और अगर उसे ब्लैक कैटेगरी में डाल दिया तो उसे कई तरह के बैन का सामना करना पड़ेगा।

इस मुसिबत से बचने के लिए पाकिसतान के पास एक ही उपाय है कि वह आतंकियों के लिए सख्त हो जाए। पाकिस्तान का कहना है कि संयुक्त राष्ट्र ने जिन्हें आतंकी घोषित किया है, उनमें 16 आतंकी उसके देश के हैं लेकिन इनमें सात मर चुके हैं। पेरिस में एफएटीएफ की बैठक चल रही है जहां पाकिसतान के ब्लैक लिस्ट में डाले जाने पर बैठक की जा रही है।