Omicron का बढ़ रहा खतरा लेकिन नहीं टलेंगे चुनाव, आयोग का केंद्र को दिया ये निर्देश

नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का नया वेरिएंट ओमीक्रॉन (Omicron) का कहर दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है। इसी कड़ी में चुनाव आयोग (Election commission) और केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Union Health Ministry) के अधिकारियों (officers) की सोमवार को मुलाकात हुई। इस दौरान हेल्थ मिनिस्ट्री (health ministry) ने यूपी, पंजाब, उत्तराखंड (UP, Punjab, Uttarakhand) समेत 5 चुनावी (electoral) राज्यों में वैक्सीनेशन (vaccination) की स्थिति के बारे में आयोग को जानकारी दी।

साथ ही मीटिंग के बाद आयोग ने केंद्र सरकार से कहा कि वह चुनावी राज्यों में टीकाकरण तेज करे ताकि इलेक्शन तक ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना टीका (corona vaccine) लग चुका हो। आपको बता दें कि, आयोग के इस आदेश से माना जा रहा है कि यूपी समेत पांचों राज्यों में विधानसभा के चुनाव नहीं टाले जाएंगे। हालांकि चुनाव आयोग और स्वास्थ्य मंत्रालय के बीच जनवरी के पहले सप्ताह में एक बार फिर से बैठक होगी। इस मीटिंग में चुनावों को टालने या कराए जाने पर अंतिम फैसला हो सकता है।

ALSO READ:Indore पुलिस की बड़ी सफलता, 9 लाख रुपए की शराब जप्त

इस दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव अजय भल्ला ने चुनाव आयोग से कहा कि किस राज्य में कितना टीकाकरण हुआ है। उत्तराखंड और गोवा में करीब 100 फीसदी वयस्कों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगने वाली है। साथ ही यूपी में 85 फीसदी लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लग चुकी है। पंजाब और मणिपुर में यह दर 80 फीसदी है। चुनाव आयोग ने हेल्थ मिनिस्ट्री से कहा कि जिन राज्यों में वैक्सीनेशन कम है, वहां गति में इजाफा किया जाए। आयोग के इस आदेश से संकेत मिले हैं कि ओमिक्रॉन के चलते ये चुनाव टाले नहीं जाएंगे, यह तय समय पर ही होंगे।