अब हरियाणा के अधिकारियों ने Indore के स्वच्छता अभियान से ली सीख, डोर टू डोर कचरा संग्रहण को बताया उपयोगी

आयुक्त प्रतिभा पाल ने बताया की इंदौर देश में स्वच्छता में लगातार पांच बार देश का सबसे स्वच्छ शहर रहा है, साथ ही सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिये इंदौर नगर निगम द्वारा किये गये कार्यो को देखने देश के विभिन्न राज्यो, शहरो के जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियो लगातार इंदौर का भ्रमण कर रहे है।

आयुक्त प्रतिभा पाल ने बताया की इंदौर (Indore) देश में स्वच्छता में लगातार पांच बार देश का सबसे स्वच्छ शहर रहा है, साथ ही सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिये इंदौर नगर निगम द्वारा किये गये कार्यो को देखने देश के विभिन्न राज्यो, शहरो के जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियो लगातार इंदौर का भ्रमण कर रहे है। इसी क्रम में शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय हरियाणा के विभिन्न जिलो हिसार, फरीदाबाद, रोहतक, सोनीपत, पंचकुला, पानीपत, गुरूग्राम के म्युनिसिपल कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर अन्य विभागीय अधिकारी सहित कुल 16 सदस्सीय दल द्वारा सीटी बस आफिस में कलेक्टर श्री मनीष सिंह, आयुक्त प्रतिभा पाल से सौजन्य भेंट की। इस अवसर पर अपर आयुक्त संदीप सोनी, कार्यपालन यंत्री महेश शर्मा, अनुप गोयल व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

इस अवसर पर कलेक्टर मनीष सिंह, निगमायुक्त प्रतिभा पाल द्वारा हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय के प्रशासनिक अधिकारियो को प्रेजेटेशन के माध्यम से इंदौर के सॉलिड वेस्ट मेनेजमेंट व स्वच्छता अभियान के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। कलेक्टर सिंह ने कहा कि किसी भी शहर में स्वच्छता अभियान में सबसे महत्वपूर्ण है डोर टू डोर कचरा संग्रहण कार्य एवं कचरा सेग्रिगेशन। उन्होने कहा कि स्वच्छता अभियान को सफल बनाने के लिये कचरा संग्रहण व सेग्रिगेशन बहुत ही आवश्यक है, साथ ही स्वच्छता अभियान की सुचारू प्लानिंग भी आवश्यक है। उन्होने कहा कि किसी भी शहर में स्वच्छता अभियान जब ही सफल होगा जब कि कचरे का निर्धारित स्थान पर कचरा संग्रहण व कचरे का सेग्रिगेशन। इंदौर के जागरूक नागरिको के साथ ही शहर के जनप्रतिनिधि, संगठने व निगम अधिकारी कर्मचारी के सहयोग से इंदौर स्वच्छता में नंबर वन शहर है। साथ ही स्वच्छता के साथ ही आवश्यक है कि शहर की सीवरेज व्यवस्था सुचारू हो, सीवरेज लाईन साफ हो, जलप्रदाय चैनल बेहतर हो, सभी को शुद्धजल की प्राप्ति हो।

Must Read : Bhopal : ईमेल पर 7 स्कूलों की बस को मिली बम से उड़ाने की धमकी, जांच में जुटी पुलिस

आयुक्त प्रतिभा पाल द्वारा प्रेजेटेशन के माध्यम से इंदौर के स्वच्छता अभियान के विस्तृत जानकारी देते हुए, बताया कि किस प्रकार से पूर्व में इंदौर में जगह-जगह कचरा पेटिया हुआ करती थी, जिस कचरा पेटी के आस-पास कचरे के ढेर लगा हुए होते थे, इसके पश्चात इंदौर ने स्वच्छता अभियान के तहत इंदौर को कचरा पेटी से मुक्त करते हुए, डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहन चलाये, जिनका जीपीएस सिस्टम के माध्यम से मॉनिटरिंग किया जा रहा है, सभी कचरा संग्रहण वाहनो अपने निर्धारित रूट व समय पर अपने कार्य क्षेत्र में कार्य कर रहे है। शहर को ओडीएफ मुक्त कैसे किया, पहले गीला-सुखा कचरा संग्रहित किया जाता है, अब हर दिन 6 बिन की तर्ज पर 6 प्रकार का कचरा संग्रहित किया जा रहा है।

थैला बैंक, बर्तन बैंक, डिस्पोजल फ्री क्षेत्र, जीरो वेस्ट इवेंट, जीरो वेस्ट शादी, नाला सफाई अभियान, नाला क्रिकेट, नाला मेडिकल चेकअप, नाला फुटबॉल, नाला दंगल व अन्य गतिविधियेां के संबंध में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही डोर टू डोर कचरा संग्रहण वाहनो से संग्रहित कचरे को गारबेज कचरा ट्रांसर्फर स्टेशन तक किस प्रकार से पहुंचाया जा रहा है, इस सेग्रिगेट कचरे को किस प्रकार से टेªचिंग ग्राउण्ड पर डिसेंटलाईज्ड मटेरियल रिकवरी प्लांट व ड्राय वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, कम्पोस्ट प्लांट में प्रोसेस किया जा रहा है। इसके साथ ही टेचिंग ग्राउण्ड में निर्माणधीन बायागैस प्लांट के संबंध में भी विस्तार से जानकारी देते हुए, बताया कि यह एशिया को बडा बायोगैस सीएनजी प्लांट है जहां पर गीले कचरे से बायोगैस का निर्माण किया जाकर उसे लोक परिवहन में उपयोग किया जा रहा है।

विदित हो कि हरियाणा शहरी स्थानीय निकाय निदेशालय के विभिन्न जिलो के म्युनिसिपल कमिश्नर, डिप्टी कमिश्नर, चीफ टाउन प्लानर, एक्जीक्टीव इंजीनियर जिनमें हिसार के आयुक्त अशोक गर्ग, फरीदाबाद के आयुक्त यशपाल जैन, रोहतक के आयुक्त नरहरि सिंग बंर्गर, सोनीपत के आयुक्त धमेन्द्र सिंह, पंचकुला के आयुक्त धर्मवीर सिंह, पानीपत के आरके सिंग, चीफ सीटी प्लान केके वैष्णव, हिसार के डिप्टी कमिश्नर डॉ. पीके हुडा, अमन धांडा, चीफ इंजीनियर अशोक कुमार रैठी, रामजी लाल, ठाकुरलाल शर्मा, इंजीनियर अंकीत लोहान, मंजीत धाहीया, सचिन शर्मा, दलबीर सिंग व प्रशासनिक अधिकारी सहित कुल 16 सदस्सीय दल द्वारा विगत दिवस वार्ड क्रमंाक 33 सुखलिया में डोर टू डोर कचरा संग्रहण कार्य, वार्ड 73 जीरो वेस्ट वार्ड, स्टार चौराहा स्थित जीटीएस सेंटर, टेªचिंग ग्राउण्ड उद्यान स्थित 400 टीपीडी मेकेनाईज्ड एमआरएफ प्लांट, 550 टीपीडी बायो सीएनजी प्लांट, 100 टीपीडी सी एंड डी वेस्ट प्रोसेसिंग प्लांट, वेस्ट बायोमेडिटेशन साईट तथा सीटी बस आफिस स्थित आईसीसीसी कन्ट्रोल कमांड सेंटर, 56 दुकान तथा मेकेनाईज्ड स्वीपिंग मशीन के कार्य का भी अवलोकन किया गया।